जागरण संवाददाता, सोनीपत : दो सप्ताह से चल रही शीतलहर ने मंगलवार को भी दिनभर लोगों को कंपकंपाए रखा। पहाड़ी क्षेत्रों से चल रही बर्फीली हवाओं ने मौसम को सर्द बनाए रखा। रात में घना कोहरा छाया रहा। सुबह को तेज हवा चलने से कोहरा छंट गया। बादलों के छाए रहने से सूर्य दोपहर में थोड़ी देर के लिए निकला, लेकिन धूप निष्प्रभावी रही। मौसम विभाग ने शुक्रवार से रविवार तक हल्की बारिश का पूर्वानुमान जारी किया है।

पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी से मैदानी क्षेत्र ठिठुर रहे हैं। पहाड़ों से आ रही तेज हवाओं ने मैदानों में लोगों को बर्फीले मौसम का अहसास करा दिया है। दो सप्ताह से चल रही शीतलहर मंगलवार को और तीव्र हो गई। लोग दिनभर सर्द हवाओं के चलते कंपकंपाते रहे। रात में घना कोहरा छाया था। चार बजे से चली तेज हवाओं के कारण कोहरा छंट गया, लेकिन ठंडक बढ़ गई। न्यूनतम तापमान में एक डिग्री सेल्सियस की बढ़ोत्तरी हुई, लेकिन अधिकतम तापमान में कमी के कारण लोगों को दिनभर ठंडे मौसम का अहसास कराया। छाए रहे बदरा:

दिन में कोहरा छंट जाने के बावजूद घने बादलों के चलते धूप नहीं निकली। दोपहर में थोड़ी देर के लिए सूर्य के दर्शन हुए, लेकिन धूप निष्प्रभावी रही। करीब एक घंटे बाद फिर से घने बादल छा गए। मौसम विभाग के अनुसार अभी बादल छाए रहेंगे। बारिश होने या कई दिन तक पाला पड़ने के बाद ही बादलों छंट सकेंगे। तापमान :- न्यूनतम अधिकतम

मंगलवार - .........07/15

बुधवार - .........08/17

बृहस्पतिवार - .........06/17

शुक्रवार - .........07/18

शनिवार - .........07/15

रविवार - .........06/15

(डिग्री सेल्सियस में) हल्की बारिश का अनुमान :

मौसमविभाग के अनुसार शुक्रवार रात से हल्की बारिश शुरू हो सकती है। रात से बादल छा जाएंगे और सोनीपत सहित कई जिलों में हल्की से सामान्य तक बारिश होगी। बारिश रविवार तक हो सकती है। इसके साथ ही तेज ठंडी हवाओं का चलना जारी रहेगा। उससे रविवार को भी भीषण सर्दी का सामना करना पड़ सकता है। बढ़ गया प्रदूषण:

हवा चलने के बावजूद प्रदूषण का स्तर बढ़ता जा रहा है। तापमान कम रहने से हवा में धूल और धुआं के कणों की घनी परत छा गई है। ऐसे में एक्यूआइ बहुत ज्यादा नहीं होने के बावजूद पीएम-10 और पीएम-2.5 बढ़ा हुआ है। इसका प्रभाव लोगों को गंभीर बीमारियों की चपेट में ला सकता है। इसके लिए विशेषज्ञों ने मास्क लगाकर ही घरों से बाहर निकलने की सलाह दी है। वायु गुणवत्ता सूचकांक ...... 121

पीएम-10 .......... 180

पीएम-2.5 ......... 185 शीतलहर से चमक उठा गर्म कपड़ों का बाजार

इस बार सर्दी कम पड़ने से कपड़ा व्यापारी परेशान थे। दिसंबर महीने तक पर्याप्त सर्दी नहीं पड़ी थी। इससे गर्म कपड़ों की बिक्री नहीं हो पा रही है। कच्चे क्वार्टर बाजार एसोसिएशन ने मीटिग करके जनवरी में अवकाश के दिनों में भी बाजार खोलने का निर्णय लिया था, जिससे दुकानदारों का गर्म कपड़ा बिक सके। इसी दौरान तीन दिन तक हुई बारिश और उसके बाद से चल रही शीतलहर ने गर्म कपड़ों के बाजार को चमका दिया। दो सप्ताह की सर्दी में गर्म कपड़ों का बाजार गुलजार हो गया है। इस समय दुकानदार गर्म कपड़ों की मांग को पूरा नहीं कर पा रहे हैं। बाजार में जबरदस्त खरीदारी है। सर्दी बढ़ने और धूप नहीं निकलने से कपड़ों के नहीं सूखने के कारण बाजार में निर्भरता बढ़ गई है।

- बिट्टू जैन, अध्यक्ष, कच्चे क्वार्टर व्यापार मंडल।

Edited By: Jagran