जागरण संवाददाता, सोनीपत : उपायुक्त ललित सिवाच ने कहा कि डेंगू और मलेरिया से बचने के लिए आओ मिलकर किसी एक दिन को सूखा दिवस मनाए और अपने घर से डेंगू भगाएं। उपायुक्त सिवाच ने कहा कि सूखा दिवस से अभिप्राय बस दस मिनट निकाल कर अपने घर के कूलर, फूलदान, गमले, छत पर पड़ा टूटा-फूटा सामान, पानी की टंकी आदि को चेक करें कि कहीं इनके जमा पानी में डेंगू, चिकनगुनिया और मलेरिया फैलाने वाले मच्छर हमारे घर के अंदर ही तो पैदा नहीं हो रहें। अगर इनमें पानी है तो उसे खाली कर उसे धूप में सुखाएं। डेंगू रोकने का यही एक उपाय है। सोमवार को डेंगू के दो नए मरीज सामने आए। अब तक जिले में डेंगू के 1009 मरीज मिल चुके हैं। ठंड से बचाव कर घर से निकलें

उन्होंने कहा कि आजकल ठंड का मौसम है, इसलिए हमें कोविड के साथ-साथ सर्द ठंड से होने वाली बीमारियों से भी एहतियात बरतनी होगी। उन्होंने कहा कि सर्द मौसम में खासकर बुजुर्ग लोग और शिशुओं का ध्यान रखना जरूरी है। सर्द हवाएं नवजात शिशु, बुजुर्ग और जो लोग ज्यादा लंबे समय के लिए घर से बाहर व जो लोग शराब का सेवन करते हैं, उनके लिए बहुत घातक सिद्ध हो सकती। सर्दी लगने पर डाक्टर को दिखाएं

उपायुक्त ने कहा कि अगर किसी व्यक्ति का शरीर कांपने लगता है, बहुत थकान महसूस होती है, हाथ-पैर अकड़ जाते हैं, अंगूलियों में सूजन आ जाती है, दिमाग की सोचने की शक्ति कम हो जाती है, हाथ-पैर सुन्न हो जाते हैं, तो उन लोगों को सर्दी से बचने की जरूरत है। अगर किसी छोटे बच्चे को सर्दी हो जाए तो उसके लक्षण इस प्रकार हैं, जैसे आंखें और शरीर लाल हो जाते हैं, बच्चे की एनर्जी कम हो जाती है, उल्टी-दस्त लग जाते हैं। अगर किसी को ये लक्षण नजर आएं तो डाक्टर से सलाह लें। ये हैं बचाव के तरीके

- सुबह-शाम योग और ध्यान करें

- आधा घंटे व्यायाम शुरू करें

- गर्म पेय का सेवन करें

- सर पर टोपा या मफलर और स्वेटर पहनें

- पौष्टिक आहार का सेवन करें

- हाई प्रोटीन वाला खाना खाएं

- सुबह के समय कुछ देर धूप में जरूर बैठें

Edited By: Jagran