जागरण संवाददाता, सोनीपत : कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे प्रदर्शन में शामिल एक किसान ने बुधवार दोपहर केजीपी-केएमपी के जीरो प्वाइंट के पुल से नीचे जीटी रोड पर कूदकर आत्महत्या कर ली। उसके जहर खाने की भी आशंका जताई जा रही है। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराकर शव स्वजन को सौंप दिया है। जांच के लिए विसरा भेजा गया है। साथी किसानों ने उसके सरकारी नीतियों के विरोध में आत्महत्या करने की बात कही है, जबकि पुलिस इसको हादसा मान रही है।

कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे प्रदर्शन में भाग लेने गोहाना क्षेत्र के गांव न्यात का किसान धर्मपाल आया हुआ था। लोगों ने बताया कि वह कई महीने से प्रदर्शन स्थल पर ही रह रहा था। वह किसान यूनियन का सक्रिय सदस्य था। बुधवार दोपहर में वह केजीपी-केएमपी के जीरो प्वाइंट के पुल के पास बैठा हुआ था। उसके साथ में कई अन्य किसान भी थे। वह उनसे दूर जाकर काफी देर तक बैठा रहा। उसके बाद किसान धर्मपाल ने एकाएक पुल से नीचे जीटी रोड पर छलांग लगा दी। करीब 30 फिट नीचे सड़क पर गिरने से वह गंभीर रूप से घायल हो गया। वहां पर ड्यूटी कर रहा होमगार्ड रवि गौतम अपने साथी के साथ उसको तत्काल लेकर नागरिक अस्पताल पहुंचे। इमरजेंसी ने चिकित्सकों ने उसका परीक्षण करने आशंका जताई कि कूदने से पहले उसने विषाक्त पदार्थ का सेवन भी किया है। उपचार शुरू होने से पहले ही उसकी मौत हो गई।

किसान धर्मपाल के पुत्र विनोद कुमार ने पुलिस को अपने पिता के आत्महत्या करने की लिखित सूचना दी। पुलिस ने उसके आधार पर पोस्टमार्टम कराकर शव स्वजन को सौंप दिया। उसके सिर और सीने सहित शरीर के कई अंगों पर गंभीर रूप से चोट लगी हुई है।

परिवार में शोक :

किसान धर्मपाल का छोटा भाई रामकिशन काफी समय से कैंसर से पीड़ित था। उसकी मंगलवार शाम को मौत हो गई थी। उससे किसान परेशान था। माना जा रहा है उसने परिवार में शोक के चलते आत्महत्या की है। धर्मपाल दोपहर में अचानक पुल से नीचे कूद गया। उसको गंभीर हालत में अस्पताल ले जाया गया, जहां पर उसकी मौत हो गई। मामले के सभी पहलुओं की जांच की जा रही है।

- इंस्पेक्टर देवेंद्र शर्मा, एसएचओ, थाना राई

Edited By: Jagran