जागरण संवाददाता, सोनीपत : कुंडली बार्डर पर फ्री में मुर्गा नहीं देने पर दो रिक्शा चालकों पर फरसे से हमला करने के आरोपित निहंग को न्यायालय ने एक दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया। पुलिस को अब उससे हमले में प्रयुक्त फरसा और डंडा बरामद करना है। साथ ही पुलिस उसे वारदात के लिए उकसाने वाले की पहचान का प्रयास करेगी। पुलिस करनाल से उसका आपराधिक इतिहास भी पता कर रही है। सिर पर केश छोटे होने के बावजूद उसके निहंग होने पर भी सवाल उठ रहे हैं। पुलिस इसकी भी पड़ताल करेगी।

मूल रूप से बिहार निवासी एवं यहां के पोल्ट्री फार्म पर नौकरी करते हैं और होटलों पर मुर्गा सप्लाई का काम करने वाले मनोज पासवान अपने साथी पप्पू के साथ दो रिक्शा से मुर्गे की आपूर्ति करने जा रहे थे। कुंडली बार्डर पर निहंगों ने उनसे फ्री में मुर्गा देने को धमकाया। उनसे मुर्गा लूटने का भी प्रयास किया गया। मुर्गा देने से मना करने पर निहंगों ने उनपर फरसा और डंडों से हमला बोल दिया था, जिससे दोनों रिक्शा चालक घायल हो गए थे। पुलिस ने मनोज पासवान की शिकायत पर रिपोर्ट दर्ज करके आरोपित निहंग नवीन संधू को गिरफ्तार कर लिया था। घायल मनोज पासवान और उसके साथी को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

पुलिस कार्रवाई है कमजोर : नवीन संधू का एक वीडियो वायरल हुआ है। उसमें साथी निहंग उसको रोकने का प्रयास कर रहे हैं, जबकि वह जमकर हंगामा कर रहा है। उसके बाद ही पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया था। इस मामले में पुलिस ने मारपीट करने और धमकी देने की सामान्य धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की है, जबकि प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार उसके फरसा घुमाने, हमला करने, जबरन मुर्गा मांगने और मुर्गा लूटने का प्रयास करने के दौरान बार्डर पर जमकर हंगामा हुआ था।

कुंडली थाना के एसएचओ रवि कुमार का कहना है कि मुर्गा सप्लाई करने वाले से मारपीट करने के आरोपित नवीन संधू को एक दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया है। उससे पूछताछ की जा रही है। पुलिस घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंच गई थी। आरोपित को तत्काल गिरफ्तार कर लिया था।

Edited By: Jagran