जागरण संवाददाता, सोनीपत : सेक्टर-27 थाना पुलिस ने शहर के वीआइपी क्षेत्र सेक्टर-15 की मार्केट में अवैध रूप से चल रहा हुक्का बार पकड़ा है। पुलिस ने संचालक समेत दो आरोपितों को मौके से ही गिरफ्तार कर लिया है। मौके से निकोटिन युक्त फ्लेवर्ड तंबाकू, हुक्का, चिलम व पाइप बरामद किए गए हैं। आरोपित गांव जाहरी के रहने वाले मनीष व गढ़ी सिसाना जोगेंद्र को गिरफ्तार कर लिया गया है। एक अन्य संचालक फाजिलपुर का रहने वाला सुमित भागने में कामयाब रहा।

सेक्टर-27 थाना के एसआइ रोहतास सिंह सोमवार रात को सेक्टर-14 में गश्त पर थे। उन्होंने बताया कि इसी दौरान सूचना मिली कि सेक्टर-15 मार्केट के हैलोविन कैफे में अवैध हुक्का बार चल रहा है। वहां पर ग्राहकों को खाना खिलाने के साथ ही बिना निकोटिन का बताकर निकोटिन वाला तंबाकू तंबाकू हुक्के में रखकर पिलाते हैं। पुलिस टीम ने कैफे पर छापामारी की। उस समय कैफे में कुछ युवक खाना खा रहे थे। वहीं संचालक जाहरी का मनीष, फाजिलपुर का सुमित व उनका एक साथी गढ़ी सिसाना का जोगेंद्र हुक्का पी रहे थे। वह युवकों को हुक्का पीने के आमंत्रित कर रहे थे। पुलिस ने मनीष व जोगेंद्र को गिरफ्तार कर लिया जबकि सुमित वहां भाग निकला। पुलिस को देखकर अन्य युवा भी वहां से भाग गए। पुलिस ने मौके से 115 ग्राम निकोटिन वाला फ्लेवर्ड तंबाकू, सात हुक्के, चार चिलम व सात पाइप बरामद किए। तीनों आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। पुलिस ने आरोपियों को अदालत में पेश किया, जहां से उनको जमानत मिल गई। युवाओं में डाल रहे थे नशे का शौक

आरोपित फ्लेवर्ड बताकर युवाओं को निकोटिन वाला तंबाकू पिला रहे थे। इस तंबाकू के दो-चार बार पीने से युवकों को इसकी लत लग जाती है। वह नशा पीने के आदी हो जाते हैं। ऐसे में वह बार-बार इसी कैफे पर पहुंचते हैं। इससे संचालकों को आर्थिक लाभ होता है। पुलिस को शिकायत मिली है कि हुक्का बार में नाबालिगों को भी हुक्का पिलाया जाता है। पुलिस इसकी जांच कर रही है। दो माह से चल रहा था हुक्का बार

जांच अधिकारी सत्यनारायण ने बताया कि आरोपितों से पूछताछ में पता लगा कि वह हुक्का बार को दो महीने से चला रहे थे। पुलिस टीम अब उनके साथी सुमित की गिरफ्तारी के लिए प्रयास कर रही है। उसे भी जल्द गिरफ्तार किया जाएगा। उससे नशीला तंबाकू लाने के संदर्भ में भी पूछताछ की जाएगी। दो दिन में दो हुक्का बार पकड़े

छापामारी का नेतृत्व कर रहे एसआइ रोहतास ने बताया कि प्रदेश में वर्ष 2010 से हुक्का बार बंद किए गए हैं। उसके बाद से हुक्का बार चलाना अवैध है। उसके बावजूद जिले में बड़े स्तर पर हुक्का बार चलाए जा रहे हैं। सेक्टर 27 थानाक्षेत्र में ही दो दिन में दो अवैध हुक्का बार पकड़े जा चुके हैं।

Edited By: Jagran