जागरण संवाददाता, सोनीपत : शहर में रोहतक रोड स्थित नई अनाजमंडी में किसान केंद्र व प्रदेश सरकार का पुतला फूंकने जा रहे थे। पुलिस ने उन्हें रोक लिया और पुतला नहीं फूंकने दिया। इस पर किसानों ने सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया और कृषि कानूनों पर विरोध जताया।

नई अनाजमंडी में रविवार को किसान भारतीय किसान पंचायत और छात्र एकता मंच के बैनर तले एकत्रित हुए। उन्होंने किसान पंचायत के अध्यक्ष भगत सिंह बल्हारा के नेतृत्व में सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। बल्हारा ने कृषि कानूनों पर विरोध जताते हुए इन्हें किसानों के खिलाफ बताया। उन्होंने कहा कि इन कानूनों से मंडियां खत्म हो जाएंगी। किसानों को नुकसान होगा और रोजगार भी खत्म होंगे। इसी के विरोध में उन्होंने केंद्र व प्रदेश सरकार का पुतला दहन करने का प्रयास किया तो पुलिस ने उन्हें रोक दिया और पुतला नहीं जलाने दिया। इस मौके पर सचिन, वजीर, छतर सिंह, दलबीर, साहिल, दीपक आदि मौजूद रहे।

दूसरी तरफ, खरखौदा के गांव मंडोरा में एकत्रित हुए किसानों ने नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन किया। किसानों ने पुतला जलाया और कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग की। यहां मंडोरी, तुर्कपुर, कंवाली, जटोला, नाहरा, गढ़ी बाला, थाना खुर्द व थाना कलां के किसान शामिल रहे। इस मौके पर विजेंद्र दहिया, महेंद्र सिंह, ओम प्रकाश, मुकेश, रणबीर, रणसिंह, अजीत सिंह, रामनरायण, रमेश, खजान सिंह, जगदेव, सुरेश, दयानंद मौजूद रहे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस