जागरण संवाददाता, सोनीपत : वीर चक्र विजेता कैप्टन भूपेंद्र सिंह ने कहा कि भारतीय सेना ने विश्व का सबसे बड़ा सफल बचाव अभियान चलाया था। भारतीय सेना असंभव को संभव करने की क्षमता रखती है। भारतीय सेना विश्व की सर्वश्रेष्ठ सेनाओं में शामिल है। हमें अपने देश की सेना पर गर्व है। कैप्टन भूपेंद्र शनिवार दीनबंधु छोटू राम विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय की एनसीसी यूनिट द्वारा मनाए जा रहे 74वें सेना दिवस कार्यक्रम में कैडेट को आनलाइन वेबिनार के माध्यम से संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता निदेशक, रूसा, प्रो. पवन दहिया ने की।

कैप्टन भूपेंद्र सिंह ने कहा कि सेना में शामिल होकर देश की रक्षा करना बड़े सम्मान का कार्य है। देश की सेना के शब्दकोश में असंभव शब्द है ही नहीं। जब भी अवसर मिला है देश की सेना ने असंभव को संभव कर दिखाया है। पाकिस्तान के साथ युद्ध में भारतीय सेना ने 93 हजार पाकिस्तानी सेना को युद्ध में आत्मसमर्पण करने पर मजबूर कर दिया था। निदेशक रूसा, प्रो.पवन दहिया ने कहा कि देश की सेना में प्रदेश का अहम योगदान है। प्रदेश के प्रत्येक क्षेत्र से युवा वर्ग सेना में शामिल होकर देश की सीमा की सुरक्षा कर रहे हैं। साउथ प्वाइंट स्कूल में मना भारतीय सेना दिवस

सेना दिवस के अवसर पर साउथ प्वाइंट के विद्यार्थियों ने पोस्टरों के माध्यम से सेना के शौर्य को प्रदर्शित किया। आनलाइन कार्यक्रम में विद्यार्थियों ने देशभक्ति गीतों की प्रस्तुति देकर सेना का गुणगान किया। इस दौरान विभिन्न कविताएं, भाषण की प्रस्तुतियां भी दीं। साउथ प्वाइंट स्कूल के चेयरमैन दिलबाग सिंह खत्री ने शहीदों के नाम दीपक प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम की शुरुआत की और विद्यार्थियों को भारतीय सेना दिवस के बारे में विस्तृत जानकारी दी। स्कूल चेयरमैन दिलबाग सिंह खत्री ने कहा कि सेना के बलबूते पर ही आज हम अपने घरों में सुरक्षित बैठे हैं। इसलिए उनके प्रति सम्मान प्रदर्शित करना हमारा नैतिक कर्तव्य है।

Edited By: Jagran