जागरण संवाददाता, सोनीपत : गांव ककरोई में महात्मा गांधी आवास योजना के तहत घर बना कर रह रहे ग्रामीण घर छोड़ने को मजबूर हैं। इसके पीछे का कारण है गांव में निकासी व्यवस्था का ध्वस्त होना। निकासी के लिए दबाई गई पाइप के फट जाने से आसपास के खाली प्लाटों में पानी भर गया है, जिसने तालाब का रूप ले धारण कर लिया है। अब गांव का सारा दूषित पानी वहीं पर एकत्रित हो रहा है। बदबू व मक्खी-मच्छरों के कारण जीना मुहाल हो रहा है। ग्रामीण इसकी शिकायत संबंधित अधिकारियों को भी दे चुके हैं। बावजूद समाधान नहीं हो पाया है। अब ग्रामीणों ने मामले की शिकायत सीएम विडो पर दी है।

ककरोई के रहने वाले धर्मबीर, राजबीर, रणबीर, रोहताश, नरेश आदि ने बताया कि गांव के गरीब परिवारों के महात्मा गांधी आवास योजना के तहत प्लाट मिले थे, जिस पर ग्रामीण घर बना कर रह रहे हैं। आसपास कुछ प्लाट खाली भी पड़े हैं। गांव की निकासी व्यवस्था के लिए दबाई गई पाइप के फट जाने के कारण गांव का सारा पानी इन प्लाटों में भर रहा है। यह तालाब का रूप ले चुके है। कई बार संबंधित अधिकारियों को इस संबंध में अवगत कराया जा चुका है, लेकिन कोई समाधान नहीं हो पाया है। ग्रामीणों का आरोप है कि अधिकारी उनसे ही पाइप खरीद कर देने की बात कह रहे हैं। ग्रामीणों का कहना है कि अधिकारियों की लापरवाही के चलते गरीब लोग अपने घर छोड़ कर इधर-उधर किराए पर रहने को मजबूर हैं। ग्रामीणों ने चेतावनी दी है कि यदि जल्द ही समाधान नहीं हुआ तो अधिकारियों के खिलाफ धरने पर बैठेंगे।

Edited By: Jagran