सोनीपत, जागरण संवाददाता। उत्तर भारत के मोस्ट वांटेड और ढाई लाख के इनामी कुख्यात राजू बसौदी को जेएमआइसी (ज्यूडिसियल मजिस्ट्रेट, फर्स्ट क्लास) अशोक कुमार के न्यायालय में पेश किया। न्यायालय ने उसे 10 दिन के रिमांड पर एसटीएफ को सौंप दिया है। एसटीएफ ने राजू बसौदी का लुक आउट जारी कराकर एयरपोर्ट अथॉरटी को सौंप दिया था। एयरपोर्ट से रात 12 बजे एसटीएफ को राजू बसौदी के थाइलैंड से भारत आने की सूचना मिली थी। एसटीएफ ने उससे पूछताछ शुरू कर दी है।

एसटीएफ प्रभारी ने बताया कि कुख्यात राजू बसौदी पर हत्या के 13, जानलेवा हमले के चार और लूट, डकैती व फिरौती के करीब 20 मामले दर्ज हैं। उस पर सोनीपत पुलिस ने एक लाख, झज्जर पुलिस ने एक लाख व रोहतक पुलिसस ने 50 हजार रुपये का इनाम घोषित कर रखा था।

वर्ष 2017 में दिल्ली जेल से छूटने के बाद उसने एक ठेकेदार से रंगदारी मांगी थी। मना करने पर बसौदी ने छह गोली मारी थीं, जिसमें वह जिंदा बच गया था। 2018 में ठेकेदार को फिर फोन करके रंगदारी मांगी थी। ठेकेदार से कहा था कि छह गोली मारना चेतावनी थी, मैं 50 गोली मारता हूं। फिलहाल एसटीएफ ने राजू को इसी मामले में गिरफ्तार किया है। कुख्यात अपराधी को पकड़ने के लिए हाल ही में एसटीएफ के अनुरोध पर एक लुक आउट सर्कुलर जारी किया गया था। एयरपोर्ट अथाॅरटी ने रात 12 बजे राजू के आने की सूचना एसटीएफ को दी थी। उसके चलते रात एक बजे टीम दिल्ली रवाना हो गई थी।

वहां से औपचारिकता के बाद रात तीन बजे राजू बसौदी को विधिवत गिरफ्तार कर गुरुग्राम ले जाया गया। उसके बाद दोपहर में राजू को सोनीपत न्यायालय लाया गया। उससे दर्जनभर मामलों में गहनता से पूछताछ की जानी है और साक्ष्य जुटाने हैं। इसके लिए एसटीएफ 15 दिन का रिमांड चाहती थी। न्यायालय ने एसटीएफ को 10 दिन का रिमांड दे दिया।

चप्पे-चप्पे पर रही कड़ी निगरानी

राजू बसौदी का बड़ा गैंग है। उसकी कई गैंग से गैंगवार भी चल रही है। उसके चलते एसटीएफ ने अतिरिक्त सावधानी बरती थी। एसटीएफ की चार गाड़ियों के बीच में रखकर उसको न्यायालय तक ले जाया गया था। उससे पहले न्यायालय में सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए थे। राजू को एसटीएफ कार्यालय में कड़ी सुरक्षा में रखा गया है। सामान्य पूछताछ के बाद उसे गुप्त स्थान पर रखकर जरूरी जानकारी जुटाई जाएगी।

एसटीएफ जिला प्रभारी सतीश देशवाल ने बताया कि राजू बसौदी उत्तर भारत का सबसे कुख्यात अपराधी है। वह पुलिस हिरासत में अपने विरोधी गैंग के तीन सदस्यों की हत्या कर चुका है। उससे कई महत्वपूर्ण जानकारी जुटाई जानी है। कई गंभीर मामलों में अहम तथ्य एकत्र किए जाने हैं। हम उससे संवैधानिक तरीके से पूछताछ कर रहे हैं। उसकी गिरफ्तारी बड़ी सफलता है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप