सोनीपत [हरीश भौरिया]। खरखौदा शराब घोटाले में सनसनीखेज खुलासा हुआ है। मिली जानकारी के मुताबिक, दूसरे गोदाम से भी 2200 पेटी शराब गायब होने की बात सामने आई है। गोपालपुर चौक के पास स्थित गोदाम में शराब की करीब 16000 पेटी रखी थी, जिसमें से 2200 पेटी शराब गायब है। बता दें कि सीएम फ्लाइंग ने वर्ष 2018 में छापा मारकर पकड़ा अवैध शराब को पकड़ा था। बता दें कि गोदाम के पास ही एक शराब का ठेका भी खुला हुआ है। इस बाबत जांच भी की जा रही है।

इससे पहले खरखौदा थाने के मालखाना इंचार्ज और सहायक पर दर्ज हो सकता है केसखरखौदा में हुए शराब घोटाले में सोमवार को एक और बड़ी गड़बड़ी से पर्दा उठा। गोदाम में आबकारी विभाग द्वारा रखी गई शराब में से 2,966 पेटियां गायब हैं। वहीं, 4,812 पेटी शराब ऐसी मिली हैं, जिसका आबकारी विभाग के पास कोई रिकॉर्ड ही नहीं है। ऐसे में माना जा रहा है कि ये शराब अवैध तरीके से यहां रखी गई थी, ताकि इसकी तस्करी की जा सके। मामले में आबकारी विभाग ने जिन लोगों से शराब को बरामद कर गोदाम में रखवाया था उनके खिलाफ ही खरखौदा थाना पुलिस को शिकायत दी है।

फिलहाल मामले की जांच जारी है। खरखौदा में शराब गोदाम से गड़बड़ी का मामले सामने आने के बाद आबकारी विभाग भी हरकत में आया था। सामने आया था कि जिस गोदाम से शराब की 55 सौ पेटी गायब हुई हैं, उसी गोदाम में आबकारी विभाग ने भी पकड़ी गई अवैध शराब की 3967 पेटी शराब की रखवाई थी। विभाग ने यह शराब चार फरवरी, 2019 को पकड़ी थी। इसके बाद यहां रखवा दिया था। खरखौदा थाना पुलिस ने शराब तस्करी के आरोपित भूपेंद्र की शराब पकड़ी थी, जिसे इसी गोदाम में रखवा दिया था।

गोदाम भूपेंद्र के परिवार के लोगों का ही था। शराब यहां रखवाने के बाद निगरानी के लिए पुलिस भी लगाई गई थी। इसके बाद अब शराब गायब होने का मामला सामने आने के बाद आबकारी विभाग ने अपनी शराब की गिनती की, तो उसमें भी गड़बड़ी मिली है। आबकारी विभाग की ओर से रखी 3967 पेटी शराब में से 2966 पेटियां गायब हैं। वहीं, गोदाम में 4812 पेटी शराब ऐसी बरामद हुई हैं, जिसका रिकॉर्ड ही विभाग के पास नहीं है।

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस