सोनीपत, जागरण संवाददाता: शहर के प्रापर्टी डीलर की आइ-10 कार के नंबर पर एक और आइ-10 कार चलती मिली। अपनी कार का नंबर देखकर प्रापर्टी डीलर ने उसका पीछा किया और ओल्ड डीसी रोड पर दबोच लिया। आरोपित छतेहरा का रहने वाला है। उसका भाई हरियाणा पुलिस में जवान है। पुलिस ने धोखाधड़ी की धाराओं में अभियोग दर्ज कर आरोपित से पूछताछ शुरू कर दी है।

कबीरपुर के रहने वाले महेश शर्मा ने बताया कि वह प्रापर्टी डीलर हैं। वह अपने एक परिचित का उपचार कराने के लिए अपनी आइ-10 कार से माडल टाउन में मित्तल हास्पिटल आए थे। वहां पर वाहनों का जाम लगा हुआ था। इसी दौरान सामने से एक आइ-10 कार और आई। उस पर भी महेश शर्मा की कार के नंबर की प्लेट लगी थी। उन्होंने कार चालक को रुकने का इशारा किया तो वह भाग निकला।

महेश शर्मा ने अपने साथियों के पीछा करके उसको ओल्ड डीसी रोड पर दबोच लिया और पुलिस को सूचना दी। सिविल लाइन थाना पुलिस ने धोखाधड़ी की धाराओं में अभियोग दर्ज कर आरोपित कार चालक को गिरफ्तार कर लिया। वह क्षेत्र के गांव छतेहरा का रहने वाला विपिन है। उसकी कार की असली नंबर प्लेट भी अंदर रखी है।

विपिन ने पुलिस को बताया कि आइ-10 कार उसके रिश्ते के भाई की है। वह हरियाणा पुलिस में है। पुलिस ने उसके आने का इंतजार कर रही है। प्रापर्टी डीलर महेश शर्मा ने बताया कि आरोपित ने अपराध करने की मानसिकता के चलते फर्जी नंबर प्लेट लगा रखी थी। उसकी कार में अन्य कई नंबर प्लेट भी मिली हैं।

इनका कहना है

आरोपित विपिन से पूछताछ की जा रही है। उसका कहना है कि टोल बचाने के लिए फर्जी नंबर प्लेट लगा रखी थी। कार मालिक के आने का इंतजार किया जा रहा है। उसके पुलिस में होने की अभी तक जानकारी नहीं है। - इंस्पेक्टर सवित कुमार, एसएचओ, सिविल लाइन

Edited By: Dharampal Arya

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट