सोनीपत, जागरण संवाददाता। हरियाणा के सोनीपत में मोहाना थाना पुलिस ने साइबर ठगी के मास्टरमाइंड को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार युवक की पहचान करनाल के शिव कालोनी में रहने वाले रोहित के तौर पर हुई है। साइबर ठगी का एक्सपर्ट रोहित अपने साथियों के साथ मिलकर चंद मिनटों में बैंक खाते खाली कर देता था।

रोहित को नैना ततारपुर के पंकज के खाते से 1.40 लाख रुपये की साइबर ठगी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। पानीपत जिले के उसके एक साथी को पुलिस ने पहले ही गिरफ्तार कर लिया था। अब पुलिस आरोपित को रिमांड पर लेकर पूछताछ कर रही है।

सिंचाई विभाग में अधिकारी को बनाया शिकार

मोहाना थाना पुलिस ने बताया कि गांव नैना ततारपुर के रहने वाले पंकज सिंह सिंचाई विभाग में अधिकारी हैं। उनकी तैनाती गुरुग्राम में है। पंकज ने 26 अगस्त को बताया था कि वह अवकाश के चलते अपने गांव आए हुए थे। उनके पास आइसीआइसीआइ बैंक का क्रेडिट कार्ड है। उनके मोबाइल पर तीन बार ओटीपी आया। उसके बाद तीन बार में उनके क्रेडिट कार्ड से 1 लाख 40 हजार रुपये कटने का मैसेज आ गया।

बैंक वालों ने दी ठगी की सूचना

जांच में उन्होंने पाया कि यह धनराशि का ट्रांजेक्शन पेटीएम रेंटल मरचेंट से की गई है। उन्होंने पुलिस की साइकर साइट पर जाकर तत्काल आनलाइन एफआइआर दर्ज करा दी। उसके बाद अपने बैंक से संपर्क किया। बैंक ने बताया कि उनके क्रेडिट कार्ड से 99 हजार रुपये का भुगतान करनाल के आइसीआइसीआइ बैंक में हुआ है। वह खाता किसी रोहित सिंह के नाम पर है।

पुलिस ने दो युवकों को गिरफ्तार किया

वहीं, बाकी धनराशि गोहाना के बैंक में भेजी गई है। जांच अधिकारी एएसआइ अनिल कुमार ने बताया कि एक आरोपित विनीत उर्फ गोलू को पहले ही गिरफ्तार कर लिया था। अब पुलिस ने दूसरे आरोपित रोहित को गिरफ्तार कर लिया है। वह करनाल की शिव कालोनी का रहने वाला है। उसको रिमांड पर लेकर पूछताछ की जा रही है।

डेटिंग एप पर प्यार, लिव इन में तकरार और हत्या, तीन साल में श्रद्धा-आफताब की 'Love Story' का खौफनाक 'The End'

Delhi MCD Election: निगम चुनाव में 20 कमजोर सीटों के लिए AAP ने बनाया प्लान, कार्यकर्ताओं को समझाया समीकरण

Edited By: Aditi Choudhary

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट