परमजीत ¨सह, गोहाना

सीएम मनोहर लाल ने अपने कार्यकाल में पहली बार 5 फरवरी को जाट बहुल बरोदा हलका के निजामपुर में सभा करके राजनीतिक ²ष्टि से कई निशाने साधे। सभा के लिए गांव निजामपुर को चुना गया, जो हलके और सोनीपत जिले में जींद जिले की सीमा से सटा अंतिम गांव है। ग्रामीणों की तरफ से सभा में गांव के विकास के लिए जो मांगें रखी गईं, सीएम ने तुरंत उन्हें मंजूर करके यह संदेश देने का प्रयास भी किया कि भाजपा अंतिम छोर पर बसे गांवों तक विकास करना चाहती है। सीएम ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत किसानों को लाखों रुपये के चेक देकर अप्रत्यक्ष रूप से जाटों को भी खुश करने की कोशिश की।

मनोहर लाल 26 अक्टूबर, 2014 को हरियाणा के मुख्यमंत्री बने थे। उनके करीब 3 साल 3 माह के कार्यकाल में यह पहला अवसर रहा, जब उन्होंने जाट बहुल बरोदा हलका के किसी गांव में सभा आयोजित की। सीएम ने 10 दिसंबर, 2016 को बरोदा हलका की विकास रैली की थी। बरोदा हलका में कोई शहर नहीं है। हलके के किसी गांव में रैली करने पर भीड़ न जुट पाने की आशंका के चलते स्थानीय भाजपा नेताओं ने उस समय बरोदा हलका की रैली को गोहाना शहर की नई सब्जी मंडी में करवाया। यह स्थान गोहाना हलका में है। अब पहली बार सीएम ने बरोदा हलके के गांव निजामपुर में सभा की। इस कार्यक्रम को किसान सम्मान समारोह नाम दिया गया। सीएम के इशारे पर स्थानीय नेताओं ने यह ऐसा गांव चुना, जिसमें आज से पहले कोई सीएम नहीं आया था। भाजपा नेताओं ने पहली बार इस गांव में सीएम आने के मुद्दे को कार्यक्रम से पहले और बाद में खूब भुनाया। सीएम ने जाट बहुल हलके में पहले ही अपने कार्यक्रम में यह संदेश देने का प्रयास किया कि उनकी पार्टी व सरकार की प्राथमिकता अंतिम छोर तक के गांव तक विकास करना है। गांव निजामपुर के लोगों ने गांव के विकास के लिए जो मांगें रखीं, सीएम ने बिना देर किए उन्हें पूरा करने का वादा भी कर दिया। यह हलका मुख्य रूप से कृषि प्रधान है। इस क्षेत्र में मुख्य रूप से जाट समुदाय के लोग ही खेती करते हैं। सीएम ने यहां किसानों को खराब फसलों पर प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत लाखों रुपये के चेक देकर किसानों का दिल जीतने और उनकी आड़ में जाटों में पैठ बनाने प्रयास भी किया। चेक वितरण के साथ ही सीएम ने उन विपक्षी दलों के नेताओं पर भी निशाना साधा जो स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट के मुद्दे को लेकर राजनीति कर रहे हैं।

अगले चुनाव का बिगुल भी फूंका

सीएम ने गांव निमाजपुर में सभा करके अगले चुनाव के लिए भी बिगुल फूंका। उन्होंने सभा में पहुंचे लोगों से खुले तौर पर अगले चुनाव में भाजपा के लिए समर्थन मांगा। सीएम ने कहा कि अगर आप लोगों का साथ रहा तो आगे भी सबका साथ और समान विकास होगा।

भाजपा गांवों की पार्टी

सीएम ने जींद व सोनीपत जिले के अंतिम छोर पर बसे दो गांवों में कार्यक्रम करके यह संदेश देने का सीधा प्रयास किया कि भाजपा केवल शहरों की नहीं बल्कि गांवों की भी पार्टी है। भाजपा पर यह छाप रही है कि यह पार्टी शहरी लोगों की पार्टी है। सीएम ने इस छाप को तोड़ने के लिए दो जिलों के दो अंतिम गांव चुन कर कार्यक्रम किए। सोनीपत जिले में अंतिम छोर के गांव निजामपुर और जींद जिले में अंतिम छोर के गांव लुदाना को चुना गया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस