जागरण संवाददाता, सोनीपत : गुरु तेगबहादुर के 400वें प्रकाशोत्सव पर दिल्ली से पहुंचा कीर्तन दरबार शहर में घूमा। यह कीर्तन दरबार पंजाब, दिल्ली व हरियाणा के उस मार्ग से होकर निकाला जा रहा है, जहां से गुरु तेगबहादुर अंतिम समय में युद्ध करने के लिए आए थे। दिल्ली में शहीद हो जाने के बाद उनके सिर को सोनीपत से होकर ले जाया गया था। नगर कीर्तन में गुरु तेगबहादुर के समय के प्रमुख ग्रंथ, और बंदूक आदि के दर्शन भी संगत को कराए गए।

गुरुद्वारा साहिब अमृतसर साहिब से यह विशाल नगर कीर्तन आरंभ हुआ। यह कीर्तन पंजाब एवं हरियाणा के विभिन्न शहरों से होता हुआ दिल्ली पहुंचा। दिल्ली से यह मंगलवार रात सबसे पहले गांव बढ़खालसा में गुरु तेग बहादुर मेमोरियल कांप्लेक्स में पहुंचा। वहां पर नगर कीर्तन का भव्य स्वागत किया गया। उसके बाद नगर कीर्तन ने शहर में प्रवेश किया। यहां पर गुरुद्वारा गुरु सिंह सभा सुजान सिंह पार्क में नगर कीर्तन का स्वागत किया गया। नगर कीर्तन में गुरुग्रंथ साहिब की पालकी के साथ ही गुरु के समय के शस्त्र दिखाए गए। उनके समय की बंदूक देखने को संगत में उत्साह भर गया।

उसके बाद दीपक मंदिर चौक पर गुरुद्वारा श्री सुखमणि साहिब पर स्वागत किया गया। फिर नगर कीर्तन का स्वागत गुरुद्वारा श्री गुरु कलगीधर सिंह सभा माडल टाउन पर किया गया। उसके उपरांत गुरुद्वारा गुरु नानक सत्संग सभा गीता भवन चौक पर जोरदार स्वागत हुआ। गांधी चौक पर गुरुद्वारा साहिब हेमनगर पर स्वागत के बाद गुरुद्वारा गुरु तेग बहादुर साहिब सेक्टर-15 पर पहुंचकर नगर कीर्तन विश्राम के लिए रुक गया। मंगलवार को गुरुद्वारा साहिब में कीर्तन दरबार सजाए गए। उसके उपरांत नगर कीर्तन गुरुद्वारा साहिब से आरंभ होकर पानीपत के लिए रवाना हो गया।

यह नगर कीर्तन शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी अमृतसर की ओर से निकाला जा रहा है। इस नगर कीर्तन में शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के सचिव हरजिदर सिंह, सिख मिशन हरियाणा के इंचार्ज भाई मंगप्रीत सिंह एवं और देशभर की प्रमुख संगत अमृतसर और पंजाब हरियाणा के विभिन्न हिस्सों से साथ में आई सोनीपत में सेक्टर-15 गुरुद्वारा में गुरुद्वारा समिति के सदस्य भगवंत सिंह, परमजीत सिंह, जसबीर सिंह, तजिद्र सिंह, बलवंत सिंह, मंजीत सिंह, पूर्व पार्षद कुलदीप सिंह, हंसराज मदन वधवा कीर्तन की स्वागत समिति में शामिल रहे। गुरुद्वारा कमेटी के सदस्य परमजीत सिंह ने बताया गुरुद्वारा समिति के सदस्यों ने संगत को प्रकाश पर्व की बधाई दीं। 40 दिन की यात्रा के उपरांत इस नगर कीर्तन का आनंदपुर साहिब गुरुद्वारा केशगढ़ साहिब में पूर्ण होगा।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021