जागरण संवाददाता, सोनीपत : रोहतक, झज्जर, सोनीपत, दिल्ली में 17 वारदात कर चुके 50 हजार रुपये के इनामी बदमाश गांव लल्हेड़ी निवासी मोनू को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपित पर सोनीपत में 14 मामले दर्ज हैं जबकि एक मामला रोहतक, एक झज्जर और एक दिल्ली में दर्ज है। आरोपित पर दिल्ली की डिफेंस कॉलोनी में सितंबर में दिल्ली पुलिस के साथ मुठभेड़ में पुलिस पार्टी पर जानलेवा हमला करने के आरोप में इनाम घोषित किया गया था। आरोपित के पास से अवैध देसी पिस्तौल और कारतूस बरामद हुए हैं। फिलहाल पुलिस आरोपित को दो दिन के रिमांड पर लेकर पूछताछ कर रही है।

उप पुलिस अधीक्षक डॉ. रविद्र कुमार ने बताया कि शस्त्र निरोधक टीम को सूचना मिली थी दिल्ली पुलिस के 50 हजार का इनामी बदमाश गांव लल्हेड़ी निवासी मोनू नंदी चौक के पास आने वाला है। टीम प्रभारी सुखबीर ने सहायक उप निरीक्षक गुलशन कुमार के नेतृत्व में टीम गठित कर कार्रवाई के लिए भेजी। टीम ने मौके पर पहुंचकर निगरानी शुरू कर दी। थोड़ी देर बाद गांव लल्हेड़ी निवासी मोनू वहां आया तो टीम ने उसे दबोच लिया। आरोपित के पास से अवैध देसी पिस्तौल और 6 कारतूस बरामद हुए। आरोपित ने बताया कि वह हाल में उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद के लोनी स्थित प्रशांत विहार में रह रहा था। सोनीपत पुलिस को आरोपित की अगस्त 2018 में बरोदा थाना क्षेत्र में दर्ज हत्या के प्रयास के मामले में तलाश थी। आरोपित को न्यायालय में पेशकर रिमांड पर लिया गया है।

इन मामलो में नामजद रह चुका है मोनू :

मोनू 2019 में दिल्ली की डिफेंस कॉलोनी में दिल्ली पुलिस की टीम पर जानलेवा हमला करने, अगस्त 2019 में हत्य प्रयास, 2018 में थाना गन्नौर में दर्ज लूट, मादक पदार्थ रखने, अवैध हथियार रखने, 2017 में अवैध हथियार रखने के मामले में नामजद है। वहीं 2016 मे अवैध हथियार रखने के दो अलग-अलग मामलों, रोहतक में हत्या प्रयास के मामले, गन्नौर में अवैध हथियार रखने के दो अलग-अलग मामले के साथ ही मुरथल में हत्या प्रयास के मामले में नामजद है। वहीं, 2015 में झज्जर में अपहरण व लूट, 2012 में सोनीपत में हत्या व गिरोहबंदी के दो मामलों, 2019 में हत्या और 2008 में डकैती के मामले में संलिप्त रहा है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस