जासं, गोहाना: कृषि एवं किसान कल्याण विभाग गांव बरोदा में किसान जागरूकता शिविर आयोजित किया गया। शिविर में कृषि अधिकारियों ने किसानों को कपास की फसल की बिजाई के लिए जागरूक किया। किसानों की कपास के उन्नत बीजों, बिजाई की विधि व फसल को बीमारी से बचाने की जानकारी दी।

कृषि विभाग के एसडीओ डॉ. राजेंद्र प्रसाद मेहरा ने कहा कि किसान धान की जगह कपास की फसल उगाएं। इससे किसानों को धान के बराबर ही मुनाफा होगा। उन्होंने कहा कि कपास की फसल की बिजाई करने से पानी की बचत होगी। कुछ किसान ¨सचाई के पर्याप्त संसाधन न होने के बावजूद धान की फसल की रोपाई कर देते हैं और बाद में उन्हें नुकसान हो सकता है। खंड कृषि अधिकारी डॉ. रामधन व सहायक सांख्यिकी अधिकारी डॉ. देवेंद्र लांबा ने किसानों को किसी भी फसल की बिजाई करने से पहले अपने खेत की मिट्टी व पानी की जांच कराने की सलाह दी। डॉ. दीपक सांगवान ने कहा कि किसान कपास की बिजाई से पहले बीज का उपचार जरूर करें। अधिकारियों ने किसानों को किसी भी तरह की फसलों के अवशेष न जलाने के लिए भी जागरूक किया।

By Jagran