संवाद सहयोगी, खरखौदा: गांव सैदपुर निवासी ने शहर के एक नर्सिंग होम पर इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए सीएमओ व एसपी को शिकायत दी है। पीड़ित का कहना है कि वह बीमारी की हालत में खरखौदा के एक नर्सिंग होम में दाखिल हुआ था, लेकिन वहां उसका ठीक से इलाज नहीं किया गया। परिजनों ने उसे गंभीर हालत में पीजीआइ, रोहतक में भर्ती करवाया। पीड़ित ने मामले की जांच कर कार्रवाई की मांग की है।

गांव सैदपुर निवासी व हरियाणा अनुसूचित एवं पिछड़ी जाति उत्थान सभा के प्रदेश महासचिव भूप¨सह ने सीएमओ व एसपी को शिकायत दी है। भूप ¨सह का कहना है की 23 अप्रैल को वह बुखार ही हालत में खरखौदा बाजार में स्थित नर्सिंग होम में दाखिल हुआ था। चिकित्सक ने जांच के बाद उसमें खून की कमी बताई, जिस पर उसके परिवार सदस्यों ने खून का इंतजाम किया, लेकिन चिकित्सक ने उसे नर्सिंग होम में खून ना चढ़ाकर दिल्ली के हास्पिटल में डेढ़ लाख रुपये में खून चढ़ाने की बात कही। ऐसे में उसकी हालत और ज्यादा बिगड़ गई, परिवार सदस्य उसे पीजीआइ, रोहतक लेकर जाने लगे और चिकित्सक से खून की मांग की तो उसने उन्हें खून भी नहीं दिया। पीजीआइ, रोहतक में फिर से खून का इंतजाम करना पड़ा। भूप ¨सह का आरोप है कि नर्सिंग होम संचालक ने जान बूझकर पैसा ऐंठने के लिए ऐसा किया है।

By Jagran