मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, सिरसा :

हिसार की जेल में कैदी की हत्या के बाद प्रदेश की जेलों में शनिवार को सर्च ऑपरेशन चलाया गया। पुलिस के सर्च ऑपरेशन में पहली बार उपायुक्त मौजूद रहे। तीन घंटे तक सिरसा जेल में जांच की गई और 150 पुलिस कर्मचारियों की 23 टीमें बनाई गई। सभी बैरकों में एक साथ जांच की गई।

चंडीगढ़ मुख्यालय से उपायुक्त व पुलिस अधीक्षक को जेल जांचने के निर्देश हुए। इससे पहले वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर फोर्स को पुलिस लाइन में एकत्रित किया गया। उन्हें नहीं बताया गया कि उनकी ड्यूटी कहां लगाई जा रही है। इसके बाद सीधे 9 बजे पुलिस कर्मचारी जेल में पहुंच गए। उपायुक्त व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के साथ जेल में पहुंचे पुलिस कर्मियों ने बैरकों की तलाशी ली। प्याज और टमाटर काटने के लिए गिलास को बनाया था नुकीला

तलाशी के दौरान सामने आया कि चार स्थानों पर बंदियों ने प्याज व टमाटर काटने के लिए गिलास को तीखा बनाया हुआ था। कुछ चम्मच भी नुकीली कर रखी थी ताकि उससे प्याज इत्यादि काटा जा सके। जेल में तलाशी का विवरण :

बंदी : 1030

बैरक : 23

जांच में शामिल पुलिसकर्मी : 150

समय : सुबह 9 से दोपहर 12 बजे

प्रशासन की ओर से जेल में औचक निरीक्षण किया गया है। कुछ भी संदिग्ध नहीं मिला। सब कुछ सामान्य था।

अमित भादू

जेल अधीक्षक, सिरसा :::::जेल की तलाशी ली गई। कोई भी संदिग्ध वस्तु नहीं मिली। यहां बंदियों से शिकायतें भी पूछी गई। जांच अभियान करीबन 3 घंटे चला। जेल की सभी बैरकों, हास्पीटल व लंगरघर सभी जांचे गए हैं।

डा. अरुण सिंह

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, सिरसा

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप