जागरण संवाददाता, सिरसा:

किसानों के हितों के लिए बै¨कग सेवा चला रहे सहकारी बैंक जिले में पहली मोबाइल एटीएम की सुविधा देने जा रहा है। नाबार्ड के सहयोग से शुरू होने वाली मोबाइल एटीएम का ग्रामीण रूट तय होगा और वह गांव में पहुंचकर धन निकासी की सुविधा उपलब्ध करवाएंगी। सुविधा की शुरूआत हरियाणा दिवस के मौके पर की जा सकती है और इसके लिए बैंक आवश्यक औपचारिकताएं पूरी करने में लगा हुआ है। मोबाइल वैन में ही एटीएम लगाया जाएगा और इस एटीएम से न केवल किसान अपने खातों से राशि निकाल पाएंगे बल्कि दूसरे बैंकों के खाताधारक भी अपने खाते से नकद निकासी कर पाएंगे।

जिले में को-आपरेटिव बैंक के पास तीन लाख से अधिक किसानों के खाते हैं। को-आपरेटिव बैंक पूरी तरह से आनलाइन सिस्टम से नहीं जुड़ पाया था। लेकिन अब बैंक को आनलाइन बैं¨कग सुविधा से जोड़ा जा रहा है। जिसका लाभ कई लाख उपभोक्ताओं को मिलेगा। बैंक एटीएम के मामले में भी उतर आया है। दो माह के अंदर रानियां तथा सिरसा के रोड़ी बाजार में दो एटीएम लगाई जाएगी। इसके अलावा एक मोबाइल एटीएम के प्रस्ताव का मंजूरी दे दी गई है। खाद-बीज के लिए अलग क्रेडिट-डेबिट कार्ड

किसानों को पैक्स में नकद भुगतान की आवश्यकता नहीं होगी और वे डेबिट-क्रेडिट कार्ड से ही खाद-बीज की खरीद कर पाएंगे। तीन लाख खाताधारकों को बैंक डेबिट-क्रेडिट कार्ड देना शुरू कर चुका है। ये कार्ड एटीएम कार्ड से अलग होंगे और बैंक की इंटरनल प्रयोग किए जा सकेंगे। किसी भी एटीएम में बैंक द्वारा किसानों को दिए गए डेबिट-क्रेडिट कार्ड से लेनदेन नहीं हो पाएगा। इस कार्ड का प्रयोग पैक्स में लगी केवल स्वैप मशीनों में ही हो पाएगा। जबकि किसानों को एटीएम कार्ड अलग से दिए जा रहे हैं जो सभी बैंकों के एटीएम में मान्य होंगे। किसानों की सुविधा के लिए पूरे राज्य में को-ऑपरेटिव बैंक मोबाइल एटीएम शुरू कर रहा है। यह सुविधा नाबार्ड के सहयोग से शुरू होगी और मोबाइल एटीएम का रूट भी तय होगा। जिन गांवों में बैं¨कग सुविधाएं नहीं हैं उन्हें लक्ष्य कर मोबाइल एटीएम की सुविधा दी जाएगी। अभी तक दूसरे बैंक मोबाइल एटीएम नहीं दे पाए हैं। साथ ही दो स्थानों पर बैंक अपनी एटीएम लगा रहा है। इसके अलावा किसानों को डेबिट-क्रेडिट कार्ड भी जारी कर रहे हैं जिससे खाद-बीज को खरीद सकते हैं।

सुरेंद्र नेहरा

चेयरमैन, को-ऑपरेटिव बैंक सिरसा

Posted By: Jagran