जागरण संवाददाता, सिरसा : भूमणशाह चौक से मिनी बाईपास पर बैरिकेड्स लगाकर रोड बंद करने के मामले में वीरवार दोपहर बाद पुलिस प्रशासन ने राहत देते हुए एक तरफ का रास्ता खोल दिया है। पुलिस अधीक्षक ने समीक्षा बैठक उपरांत वनवे करने के निर्देश जारी किए जिसके बाद आवाजाही के लिए रास्ता खोल दिया गया। इससे पहले शहर के कुछ संगठन व लोगों ने रास्ता खोले जाने की मांग रखी थी। हालांकि इस मामले में सिरसा के दो वकीलों ने कोर्ट में भी याचिका लगाई हुई है। इस मामले में 28 सितंबर को सुनवाई है। लेकिन पुलिस प्रशासन ने आमजन की सुविधा को देखते हुए रास्ता खोलने का फैसला किया है।

--------

कई माह से बंद था रास्ता

कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान संगठन उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला व बिजली मंत्री रणजीत सिंह का विरोध करते रहे हैं। पूर्व में डिप्टी सीएम के आवास के नजदीक किसान प्रदर्शनकारियों का जत्था पहुंच गया था जिसके बाद प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था और कड़ी कर दी। साथ लगते पार्क में तारबंदी करवाई गई वहीं भूमणशाह चौक से किसान चौक तक बैरिकेडिग करवा दी और दोनों तरफ पुलिस का कड़ा पहरा कर दिया। आमजन के लिए रोड पूरी तरह ब्लाक हो गया और लोगों को घूमकर जाना पड़ा। वहीं छोटी गलियों के रास्ते से होकर इस मार्ग से निकलना पड़ता है।

------------

तीन दिन बाद फिर होगी समीक्षा, दुकानों के आगे से भी हटाए जा सकते हैं बैरिकेड्स

पुलिस प्रशासन ने वनवे को ट्रायल के तौर पर रखा है। सबकुछ सामान्य रहा तो इसे आगे बढ़ा दिया जाएगा वरना बंद भी किया जा सकता है। पुलिस प्रशासन का कहना है कि उनकी प्राथमिकता सुरक्षा प्रबंध हैं। तीन दिन बाद फिर से समीक्षा बैठक होगी। आगामी बैठक में भूमणशाह चौक पर बनी दुकानों के आगे से भी बैरिकेड हटाने पर कोई फैसला हो सकता है।

---------

जनहित को देखते हुए मार्ग खोलने का फैसला किया है लेकिन अभी इसकी समीक्षा करेंगे। हमें कानून व्यवस्था को भी ध्यान में रखना है। आवाजाही में कम से कम रुकावट हो इस संबंध में पुलिस को निर्देश दिए गए हैं।

- डा. अर्पित जैन, एसपी सिरसा।

Edited By: Jagran