जागरण संवाददाता, सिरसा : स्वास्थ्य विभाग द्वारा बृहस्पतिवार को आदेश जारी कर 23 हड़ताली एनएचएम कर्मचारियों को बर्खास्त कर दिया। कर्मचारियों की बर्खास्तगी की सूचना के बाद धरना दे रहे हड़ताली कर्मचारियों ने बर्खास्तगी के आदेशों की प्रतियां जलाई। कर्मचारियों ने बताया कि विभागीय अधिकारी उनकी आवाज को दबाने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि बृहस्पतिवार को 23 सूचना सहायकों को बर्खास्त करने के आदेश जारी किए गए हैं। परंतु इन आदेशों पर कोई नंबर नहीं लगाया गया है। वर्णनीय है कि इससे पहले 18 फरवरी को विभाग द्वारा 88 कर्मचारियों को बर्खास्त करने के आदेश जारी किए गए थे। हड़ताली एनएचएम कर्मियों ने भैंस के आगे बीन बजाकर जताया रोष

सिरसा : एनएचएम कर्मचारी संघ के आह्वान पर एनएचएम कर्मचारियों द्वारा की जा रही हड़ताल 17वें दिन में प्रवेश कर गई। बृहस्पतिवार को हड़ताली कर्मचारियों ने भैंस के आगे बीन बजाकर अपने रोष का इजहार किया। तीन दिनों से भूख हड़ताल पर बैठे तीन कर्मचारियों की हालात बिगड़ने लगी है, हड़ताली कर्मचारियों ने आरोप लगाया कि विभाग ने उनकी स्वास्थ्य जांच के लिए कोई टीम नहीं भेजी है।

जिला प्रधान कुंदन गावड़िया ने बताया कि करीब एक साल से अधिकारियों से बात कर रहे हैं लेकिन अधिकारियों के कर्मचारी विरोधी रवैया से किसी भी मांग पर सकारात्मक कार्रवाई नहीं हो रही है। सरकार ने एक जनवरी को एनएचएम सेवा नियम लागू किए थे जिसके तहत कर्मचारियों को पे स्केल के तहत वेतन निर्धारित किए गए थे परंतु अधिकारियों के मनमाने रवैये के चलते कर्मचारियों को पिछले आठ महीने से वेतन भी नहीं मिल रहा है। इस मौके पर डा. अतुल गिजवानी, कमल कक्कड़, अनिल मलिक, सुरेंद्र बैनीवाल, डा. राजप्रीत बराड़, वीरपाल कौर, प्रोमिला व अन्य कर्मचारी उपस्थित थे। समर्थन में आशा वर्करों ने किया प्रदर्शन

आशा वर्करों ने सीटू के साथ एनएचएम कर्मचारियों के समर्थन में बाजारों में प्रदर्शन किया और धरनास्थल पर आकर समर्थन दिया। इससे पहले आशा वर्कर टाउन पार्क में एकत्रित हुई जहां से सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए नागरिक अस्पताल पहुंची। आशा यूनियन की प्रधान मंजू ने अपने संबोधन में कहा कि सरकार ने अगर हठधर्मिता न छोड़ी तो सभी सदस्य इस लड़ाई में एनएएचएम कर्मचारियों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े होंगे। समर्थन देने पहुंचे शर्मा और मलड़ी

हड़ताली कर्मचारियों को समर्थन देने के लिए राजनीतिज्ञों में होड़ लगी हुई है। बृहस्पतिवार को कांग्रेस नेता होशियारी लाल शर्मा, जेजेपी नेता निर्मल ¨सह मलड़ी धरनास्थल पर पहुंचे और कर्मचारियों की मांगों को जायज बताते हुए उनका समर्थन किया। ::::23 और एनएचएम कर्मचारियों को बर्खास्त किया गया है। इससे पहले 88 हड़ताली कर्मचारी बर्खास्त किए गए हैं। जिला में कुल 555 कर्मचारी हड़ताल पर है। हड़ताली कर्मचारियों से अनुरोध किया जा रहा है कि वे अपनी ड्यूटी पर वापस आएं अन्यथा उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

- डा. वीरेश भूषण, डिप्टी सीएमओ

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप