जागरण संवाददाता, सिरसा :

अटल टिकरिग लैब योजना के दूसरे चरण में प्रदेशभर के 143 सरकारी और गैर सरकारी स्कूलों में अटल टिकरिग लैब का निर्माण किया जाएगा। स्कूलों में लैब का निर्माण होने से विज्ञान, गणित व तकनीक में रुचि रखने वाले विद्यार्थी लैब में बैठकर रचनात्मक प्रयोग कर सकेंगे। इससे विद्यार्थियों के कौशल में निखार आएगा।

सिरसा जिले में नुहियांवाली पब्लिक स्कूल नुहियांवाली, राजकीय सीनियर सेकंडरी स्कूल रूपावास, राजकीय सीनियर सेकंडरी स्कूल गुडिय़ाखेड़ा व केन्द्रीय विद्यालय नंबर 1 का अटल टिकरिग लैब के लिए चयन हुआ हैं। इससे पहले स्वामी विवेकानंद बाल मंदिर वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय, सतलुज पब्लिक स्कूल ऐलनाबाद, जवाहर नवोदय विद्यालय ओढ़ां, बिशनामल जैन सरस्वती विद्या मंदिर स्कूल कालांवाली, सर्वोदय शिक्षा सदन ऐलनाबाद व सरस्वती विद्या मंदिर स्कूल डबवाली में अटल टिकरिग लैब चल रही हैं। ये है अटल टिकरिग योजना

अटल टिकरिग लैब योजना पिछले साल शुरू हुई। इस योजना का उद्देश्य इनोवेशन को बढ़ावा देना और छोटी उम्र से ही बच्चों को आविष्कार करने के लिए प्रेरित करना है। लैब में विद्यार्थियों को रोबोटिक्स, थ्री डी प्रिटर्स, इलेक्ट्रानिक्स डेवलपमेंट टूल्स, कंप्यूटर, विडियो कॉफ्रेसिग माइक्रोकंट्रोलर बोर्ड, अल्ट्रासॅनिक सेंसर जैसे अत्याधुनिक उपकरण मिलेंगे। इन लैब का बेहतरीन प्रयोग कर विद्यार्थी राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता का हिस्सा बन सकेंगे। सरकारी और गैर सरकारी स्कूलों में अटल टिकरिग लैब खोली जाएगी।। जिले में ज्यादा से ज्यादा स्कूलों में ये लैब शुरू होंगी तो विद्यार्थियों की वैज्ञानिक प्रतिभा में निखार आएगा।

डा. मुकेश कुमार, जिला विज्ञान विशेषज्ञ

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप