जागरण संवाददाता, सिरसा : जिले में कोरोना का संक्रमण खतरनाक स्तर पर पहुंचना शुरू हो गया है। आंकड़ों पर निगाह दौड़ाएं तो सितंबर महीने में मात्र 20 दिनों में ही 1609 संक्रमित मिल चुके हैं जबकि मार्च से लेकर अगस्त महीनों तक का संक्रमितों का आंकड़ा 1452 था। यानि की पांच महीनों में जितने संक्रमित मिले उनसे भी करीब डेढ़ सौ अधिक सिर्फ 20 दिन में मिल गए। वहीं सितंबर महीने में संक्रमण से 28 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि पहले पांच महीनों में संक्रमण से 20 लोग मरे थे। स्वास्थ्य विभाग को आशंका है कि कोरोना संक्रमण कम्यूनिटी में फेलना शुरू हो गया है। पिछले कुछ दिनों से जिले में धरना प्रदर्शन ज्यादा हो रहे हैं। बाजारों में भी खूब भीड़ है। लोग मास्क नहीं लगा रहे हैं और न ही भीड़ का परवाह कर रहे हैं, इसी का नतीजा है कि आंकड़े दिनों दिन बढ़ रहे हैं। रविवार को संक्रमण के 110 पॉजिटिव केस सामने आए हैं जबकि 50 की रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया है। -------- जिले में अब तक 3071 केस सामने आ चुके हैं, जिनमें से 1082 अभी भी एक्टिव है। इनमें से 836 होम आइसोलेशन में जबकि शेष कोविड केयर सेंटरों में उपचाराधीन है। जिले में अब तक 1941 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं जबकि 48 लोगों की संक्रमण से मौत हो चुकी है। जिले में अब तक 63786 लोगों के सैंपल लिये जा चुके हैं। ------------- रविवार को आई रिपोर्ट में एयर फोर्स स्टेशन के छह, गिगोरानी के 8, बिज्जुवाली के तीन, शेरपुरा के तीन, डिग के पांच, रोड़ी के दो, डबवाली के 12, सेक्टर 20 के आठ केस मिले हैं। वहीं बेगू रोड के पांच, हाउसिग बोर्ड के दो, शक्तिनगर के तीन केस मिले हैं। पुलिसलाइन, थमौरा थेड़ी, चक्क साहिबा, नोहरिया बाजार,विष्णुपुरी, पीरबस्ती, ओढ़ां, ग्रेवाल बस्ती, एफ ब्लाक, पन्नीवाला मोटा, ऐलनाबाद, ओटू, गंदली, चौपड़ा वाली गली, हुडा, जनकल्याण कॉलोनी, रिसालिया खेड़ा, बठला कॉलोनी में संक्रमण के केस सामने आए हैं। ---------------- सितंबर महीने में यूं बढ़ा संक्रमण 1 सितंबर - 43 2 सितंबर - 83 3 सितंबर - 32 4 सितंबर - 74 5 सितबर - 49 6 सितंबर - 118 7 सितंबर - 43 8 सितंबर - 46 9 सितंबर - 58 10 सितंबर - 119 11 सितंबर - 89 12 सितंबर - 131 13 सितंबर - 50 14 सितंबर - 57 15 सितंबर - 85 16 सितंबर - 141 17 सितंबर 82 18 सितंबर - 121 19 सितंबर - 118 20 सितबर - 110 -------- जिले में कोरोना संक्रमण खतरनाक स्तर पर पहुंच रहा है। लोगों को संक्रमण से बचने के लिए जागरूक होना होगा। सितंबर महीने में संक्रमण ने तेज रफ्तार पकड़ी है, जो घातक हो सकती है। - डा. सुरेंद्र नैन, सिविल सर्जन

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021