जागरण संवाददाता, सिरसा : वीरवार को सुबह सवेरे से जिले में झमाझम बरसात हुई। सिरसा हल्के में हालांकि बरसात सामान्य रही जबकि डबवाली, कालांवाली, ऐलनाबाद, रानियां, बड़ागुढ़ा, चौपटा में अच्छी बरसात हुई। बरसात से शहरी क्षेत्रों में जलभराव की समस्या देखने को मिली वहीं गांवों में भी खेतों में पानी भर गया। बरसात से न्यूनतम तापमान गिर कर 27.6 डिग्री तक पहुंच गया। इसके साथ बिजली खपत में भी कमी आई है। बरसात से लोगों को गर्मी से राहत मिली। ------- डबवाली में 75 एमएम बरसात, घरों में घुसा पानी

संवाद सहयोगी, डबवाली।

मेघा खूब बरसे। बुधवार देर रात 10.30 बजे बूंदाबांदी शुरु हुई। रुक-रुककर वीरवार सुबह 10 बजे तक बूंदाबांदी बारिश में बदल गई। उसके बाद डेढ़ घंटा तक तेज बरसात हुई। डबवाली शहर में शाम चार बजे तक 75 एमएम बरसात रिकार्ड की गई है। वहीं गोरीवाला उपतहसील में 30 एमएम बरसात दर्ज हुई है। भारी बरसात से जलभराव हो गया। डबवाली में जनस्वास्थ्य विभाग के सीवरेज, लोक निर्माण विभाग (भवन एवं पथ) के बोरवेल बरसाती पानी में डूब गए। सिरसा, चौटाला तथा मलोट रोड के अतिरिक्त आरओबी का सर्विस रोड पानी से भर गया। इसके अतिरिक्त कालोनी रोड, न्यू बस स्टैंड रोड, मुख्य बाजार, सब्जी मंडी में भगत सिंह चौक के अलावा गलियों में घुटनों तक पानी भरा था।

इधर ग्रामीण क्षेत्र में पंचायत विभाग के बनाए बोरवेल सफाई न होने के कारण नहीं चले। ऐलनाबाद रोड पर स्थित गांव बिज्जूवाली में दुकानों के अंदर पानी घुस गया। दुकानदार कालू राम, प्रेम मेहता, रमेश मेहता, महेंद्र कुमार आदि ने बताया कि पानी की निकासी के लिए नाला बनाया गया है। लेवल सही न होने के कारण पानी की निकासी नहीं होती। चौटाला रोड पर ए वन धर्मकांटा की पिछली गली में रहने वाले भोला राम शर्मा ने बताया कि पिछले माह बारिश के दौरान उसके घर के बेडरूम तक पानी घुस गया था। उधर रेलवे डिग्गी रोड पर पानी के बहाव के कारण रेलवे डिग्गी की दीवार गिर गई। इस वजह से रोड के पानी से डिग्गियां भर गई। आरयूबी (रेलवे अंडर ब्रिज) में घुटनों तक पानी भर गया। इस दौरान एक सरकारी विभाग की बोलेरो कैंपर ने नीचे से निकलने का प्रयास किया तो बोलेरो फंस गई। बड़ी मुश्किल से चालक ने कैंपर को निकाला। -------- साढ़े नौ घंटे बरसे मेघा

संवाद सहयोगी, रोड़ी : क्षेत्र में साढ़े नौ घंटे की लगातार हुई झमाझम बारिश से फसलों को तो फायदा हुआ लेकिन कुछ निचले स्थानों पर खेतों मे नरमा व धान के खेत बारिश से लबालब भर गए। वहीं रोड़ी कस्बे में निकासी न होने पर मेन तालाब, खरीद केन्द्र मेन, रास्ते व रोड़ी सब स्टेशन में पानी भर गया । क्षेत्र में बिजली सप्लाई भी बाधित रही । रोड़ी बिजली घर की बिल्डिग पुरानी व खस्ताहाल होने से फर्श नीचा होने के कारण मशीनों में पानी जाने का खतरा बना रहता है। बिजली सप्लाई न होने पर मेन रास्तों से पानी की निकासी बाधित होकर रह गई। ---------- रिमझिम बारिश से मौसम हुआ सुहाना

संवाद सहयोगी, बड़ागुढ़ा : वीरवार को क्षेत्र के विभिन्न गांवों में अच्छी बारिश हुई। कुछ गांवों में तो निचले भागों में गली नालियों में काफी जल भराव होने से लोगों को आवागमन में भी दिक्कत आई। रुक-रुककर हुई बारिश के दौरान बिजली सप्लाई भी प्रभावित रही। सुखचैन से जगदीप सिंह, बलकौर सिंह, बीरुवाला गुढ़ा से गुरजंट सिंह, झिड़ी से बेअंत सिंह, बड़ागुढ़ा से गगनदीप शर्मा, जीवा राम, गुरजंट सिंह, जगदीप सिंह, जसबीर सिंह, बंसीलाल, भोला राम, परविदर, बप्पां से अनूप चंद, शशिभूषण, ललित कुमार, नागोकी से शाम सुंदर, लखा सिंह, जरनैल सिंह, जसपाल सिंह, अमित कुमार, हरदीप सिंह आदि ने बताया कि लंबे इंतजार के बाद रिमझिम बारिश से मौसम सुहावना हुआ। -------- बरसात से फसलों को लाभ, शहर हुआ जलमग्न

संवाद सहयोगी, कालांवाली

वीरवार सुबह को आई बरसात होने से जहां लोगों को भीषण गर्मी से राहत मिली है, वहीं गर्मी से झुलस रही नरमा आदि की फसलों को लाभ मिलेगा। बरसात से शहर में जगह- जगह जलभराव होने से आमजन को परेशानी का सामना करना पड़ा। बरसात होने से किसानों के चेहरों पर खुशी देखी गई। शहर में अनाज मंडी, बस स्टैंड रोड, वाटर व‌र्क्स रोड, पंजाब बस स्टैंड, गली टेलीफोन एक्सचेंज, डाक्टर मार्केट, पंजाब नेशनल बैंक वाली मार्केट सहित अन्य स्थानों पर जलभराव होने से आमजन को परेशानी का सामना करना पड़ा। ------------ रानियां में भी झमाझम बरसात

संवाद सहयोगी, रानियां। रानियां क्षेत्र में भी अच्छी बारिश हुई है। कई देर तक हुई बरसात से रानियां के निचले क्षेत्रों में पानी भर गया। शहर के आसपास के क्षेत्रों में पिछले कई दिनों से बरसात हो रही थी लेकिन रानियां क्षेत्र सूखा ही रहा हुआ था। बरसात होने से नरमा, धान व ग्वार उत्पादक सभी किसानों के चेहरे खिल उठे तो नागरिकों को भी उमस भरी गर्मी से निजात मिली। ------ कहां कितनी बरसात

डबवाली - 75 एमएम

अबूबशहर - 40 एमएम

गोरीवाला - 30 एमएम

रोड़ी - 30 एमएम

गोलेवाला - 30 एमएम

खुइयां मलकाना - 30 एमएम

कालांवाली - 20 एमएम

पंजुआना - 15 एमएम

सिरसा - 10 एमएम

नाथूसरी चौपटा - 06 एमएम

Edited By: Jagran