जागरण संवाददाता, रोहतक : खरैंटी गांव में हुई सुशील की हत्या की वारदात में शामिल रहे दो नाबालिग युवकों को काबू किया गया है। वारदात में शामिल दोनों नाबालिग युवकों को पुलिस अभिरक्षा में लेकर बाल न्याय बोर्ड के समक्ष पेश किया गया। जिसके आदेश पर नाबालिग युवकों को बाल सुधार गृह फरीदाबाद मे भेजा गया है।

लाखनमाजरा थाना प्रभारी अब्दुल्ला खां ने बताया कि 16 अक्टूबर की रात को पुलिस को सूचना मिली कि गांव खरैंटी में सुशील पुत्र बलबीर की हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने तुरंत मौके पर पहुंचकर जांच शुरू कर दी है। सुशील के पिता बलबीर के बयान के आधार पर थाना लाखनमाजरा में अंकित किया गया। प्रारंभिक जांच में सामने आया कि जयभगवान निवासी खरैंटी ने गांव में चाउमिन व बर्गर की दुकान खोल रखी है। 18 अक्टूबर की शाम को सुशील अपने दोस्त सुमित व सोनी के साथ जयभगवान की दुकान पर चाउमिन खाने गया था। जहां पर सुशील का अर्जुन, सदानंद के साथ कहासुनी हो गई। सुशील, सुमित व सोनी अपने घरों की तरफ चल दिए। समय करीब साढे सात बजे जब सुशील, सुमित व सोनी गांव में स्थित बलवान के घर से गुजर रहे थे तो सदानंद, अर्जुन, लाला, दीपक व अन्य युवकों ने लाठी-डंडो से सुशील, सुमित व सोन पर हमला कर दिया। शोर होने पर बलबीर व पड़ोसियों ने बचाव को प्रयास किया तो सदानंद, अर्जुन, लाला व दीपक अपने साथियों के साथ मौके से फरार हो गए। वारदात में लगी चोटों के कारण सुशील ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। सुमित व सोनू को इलाज के लिए अस्पताल में दाखिल कराया गया। वारदात में शामिल रहे दो नाबालिग युवकों को पुलिस अभिरक्षा में लिया गया। वारदात में शामिल रहे चार आरोपितों को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है।

Edited By: Jagran