जागरण संवाददाता, रोहतक : सुनारिया गांव के खेतों में सीआइए-1 की टीम और बदमाशों के बीच आमने-सामने की मुठभेड़ हो गई। इसमें दो बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया गया। हालांकि जवाबी फायरिग में पुलिस की गोली लगने से एक बदमाश घायल हो गया, जिसे उपचार के लिए पीजीआइ में भर्ती कराया गया है। आरोपितों से पूछताछ के बाद रिटायर्ड एसआइ को गोली मारने के अलावा कई अन्य वारदातों का भी खुलासा हुआ है। एएसपी डा. अंशु सिगला ने प्रेस कांफ्रेंस कर पूरे मामले की जानकारी दी।

एएसपी डा. अंशु सिगला ने बताया कि रविवार तड़के करीब चार बजे सीआइए-1 प्रभारी प्रशांत कुमार को सूचना मिली कि कुछ बदमाश सुनारिया जेल के पास खेतों में बने कमरे में बैठे हैं, जो किसी वारदात को अंजाम देने की फिराक में है। सूचना के आधार पर सहायक उप निरीक्षक मंजीत सिंह, एएसआइ विनोद दलाल और विकास सांगवान समेत अन्य पुलिसकर्मियों की टीम मौके पर पहुंची। पुलिस ने बदमाशों की घेराबंदी कर उन्हें सरेंडर करने के लिए कहा। लेकिन तभी एक आरोपित ने सहायक उप निरीक्षक राजेश कुमार की तरफ फायरिग कर दी। जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने भी फायरिग की। इसमें भागते समय एक बदमाश के पैर में गोली लग गई, जिसके बाद पुलिस ने दोनों बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपितों के पास से पिस्तोल और कारतूस बरामद किए गए। पूछताछ में गोली लगने वाले आरोपित की पहचान नया पड़ाव मुहल्ला निवासी पंकज के रूप में हुई, जबकि दूसरा आरोपित चुलियाना गांव निवासी मोहित उर्फ शूटर है। आरोपितों के खिलाफ शिवाजी कालोनी थाने में मामला दर्ज कराया गया। घायल का उपचार पीजीआइ में चल रहा है। आरोपितों से पूछताछ के बाद कई वारदातों का खुलासा हुआ है। एएसपी ने पुलिस टीम को बधाई दी। यह है आरोपितों का रिकार्ड

- नया पड़ाव मुहल्ले का रहने वाला आरोपित पंकज दसवीं पास है। आरोपित के खिलाफ लूट, डकैती और लड़ाई-झगड़े समेत करीब डेढ़ दर्जन मामले झज्जर, बहादुरगढ़, सांपला, रोहतक और जींद में दर्ज है। आरोपित कई मामले में वांछित था, जो फरार चल रहा था। कोर्ट ने भी आरोपित को भगौड़ा घोषित किया था।

- चुलियाना गांव निवासी मोहित उर्फ शूटर 9वीं पास है। आरोपित पहले रेलवे स्टेशन पर चाय बेचने का काम करता था और फिलहाल में फोटो स्टेट की दुकान पर काम करता है। आरोपित के खिलाफ लड़ाई-झगड़े का मामला शिवाजी कालोनी थाने में दर्ज है। गवाही देने पर किया था एसआइ को मारने का प्रयास

आरोपित पंकज और मोहित ने पिछले सप्ताह 19 जून को नया पड़ाव मुहल्ले में रिटायर्ड एसआइ हुकम चंद को गोली मारी थी। एसआइ का तभी से पीजीआइ में उपचार चल रहा है। यह मामला शिवाजी कालोनी थाने में दर्ज है। पूछताछ में सामने आया कि कुछ साल पहले पंकज का पड़ोसी के साथ झगड़ा हुआ था। उस मामले में एसआइ हुकम चंद ने पंकज के खिलाफ गवाही दी थी। जिसके बाद पंकज को जेल जाना पड़ा था। जमानत पर आने के बाद से ही वह जान से मारने की धमकी दे रहा था। इन वारदातों का भी खुलासा

- अप्रैल 2019 में आरोपित पंकज और मोहित उर्फ शूटर ने अपने साथियों के साथ मिलकर रेलवे स्टेशन के क्वार्टर के पास करीब 70 हजार रुपये लूटे थे। यह मामला सिटी थाने में दर्ज है।

- 25 मई को दोनों आरोपितों ने डेयरी मुहल्ला निवासी कालू पर फायरिग की थी। यह मामला पुरानी सब्जी मंडी थाने में दर्ज है।

- 31 मई को आरोपितों ने अपने साथियों के साथ मिलकर पुराना आइटीआइ मैदान के पास बिजली बोर्ड के कर्मचारियों से करीब साढ़े चार लाख रुपये और लैपटॉप लूट लिया था। इस मामले की जांच आर्य नगर थाना पुलिस कर रही थी।

- एक जून को दोनों आरोपितों ने दिल्ली बाईपास के पास से बाइक चोरी की थी, जिसका मामला अर्बन एस्टेट थाने में दर्ज है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप