मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, रोहतक : आज से शुरू होने वाले नए वित्तीय वर्ष से महंगाई की मार के साथ-साथ जनजीवन पर भी असर पड़ेगा। प्रदेश भर में हाईवे पर सफर करने के लिए अब आपको पहले के मुकाबले अधिक टोल देना होगा। साथ ही आज से शराब पीना भी महंगा हो जाएगा। नई आबकारी नीति के लिए एक अप्रैल से बढ़े हुए दामों पर शराब बेची जाएगी। इसके तहत प्रति बोतल 10 से 30 रुपये तक बढ़ाए गए हैं। इसके अलावा वाहनों पर हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट भी आज से जरूरी होगी।

टोल से गुजरने पर देने होंगे इतने रुपये

दरअसल, वित्तीय वर्ष के हिसाब से एक अप्रैल से नया सत्र शुरू होता है। इसके साथ ही नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया की तरफ से हर वर्ष टोल के नए रेट की सूची जारी की जाती है। रोहतक-पानीपत हाईवे पर लगे टोल की बात करें तो एक अप्रैल से टोल महंगा हो जाएगा। नए रेट में पांच रुपये से लेकर 45 रुपये तक की बढ़ोतरी की गई है। कार-जीप और लाइट मोटर वाहन के लिए पहले 125 रुपये दिए जाते थे तो अब 130 रुपये देने होंगे। इसी तरह ओवरसाइज वाहन के लिए पहले 755 रुपये टोल लगता था, लेकिन अब यह बढ़ाकर 790 रुपये कर दिया गया है। इसके अलावा रोहतक-हिसार हाईवे पर मदीना टोल, डाहर टोल प्लाजा और डीघल टोल प्लाजा आदि स्थानों पर भी टोल के दामों में बढ़ोतरी की गई है। यानी कि अब हाइवे पर सफर करना महंगा हो जाएगा। शराब पर प्रति बोतल की गई बढ़ोतरी

नए वित्तीय वर्ष के साथ ही एक अप्रैल से नई आबकारी नीति भी लागू हो जाएगी। इसके तहत शराब के दामों में भी बढ़ोतरी की गई है। अंग्रेजी शराब के कुछ ब्रांड पर प्रति बोतल के हिसाब से 30 रुपये तक बढ़ाए गए हैं। इसके अलावा देशी शराब की बोतल पर 10 से 15 रुपये और बीयर के दामों में भी कुछ ब्रांड पर प्रति बोतल 10 रुपये की बढ़ोतरी की गई है। नए आबकारी नीति के तहत जिले में 138 स्थानों पर शराब के ठेके खोले जाएंगे। जिले में पिछले साल से तुलना करें तो 120 करोड़ में शराब ठेके छोड़े गए थे। उसके मुकाबले इस बार 131 करोड़ 60 लाख रुपये में ठेके छोड़े गए हैं, जो पिछले साल के मुकाबले 9.64 प्रतिशत अधिक है। हालांकि नई नीति में कई अन्य बदलाव भी किए गए हैं। अभी तक गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस पर शराब के ठेके बंद रखने के आदेश थे, लेकिन इस बार इन दोनों दिनों में शाम पांच बजे के बाद ठेके खोले जा सकेंगे। आज से हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट भी जरूरी

यूं तो वाहनों पर हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट के लिए काफी समय पहले आदेश जारी हो गए थे, लेकिन इस पर अमल नहीं हो पा रहा था। एक अप्रैल से शोरूम संचालकों को खुद ही हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट वाहन पर लगाकर देनी होगी। जिले में कार्मिशियल वाहनों पर हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट काफी हद तक लगी हुई है, लेकिन नॉन कार्मिशियल वाहन अधिक है, जिनमें हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट नहीं है। ऐसे में अगर अब आप शोरूम से नया वाहन खरीद रहे हैं तो आपको हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगवानी अनिवार्य होगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप