जागरण संवाददाता, रोहतक : छात्र संघ चुनाव को लेकर एमडीयू में विरोध-प्रदर्शन करने वाले जिन छात्रों पर लाठीचार्ज हुआ, उन्हीं में से 22 नामजद सहित 250 अज्ञात छात्रों पर पुलिस ने हत्या के प्रयास का केस दर्ज कर दिया है। हैरानी की बात यह है कि लाठीचार्ज में कई छात्र-छात्राएं घायल हुए थे, ऐसे में उन्हीं पर हत्या के प्रयास का केस दर्ज करने से छात्र संगठनों में भारी रोष है।

दरअसल, छात्र संघ चुनाव में नौ छात्र संगठन अप्रत्यक्ष चुनाव प्रणाली का विरोध कर रहे हैं। इसे लेकर शुक्रवार को इनसो, एनएसयूआइ और एसएफआइ समेत अन्य छात्र संगठनों ने एमडीयू में विरोध-प्रदर्शन किया था। इस दौरान गेट नंबर एक पर पुलिस ने छात्रों पर लाठीचार्ज कर दिया था। इसमें काफी संख्या में छात्र घायल हो गए थे। पुलिस ने इनसो के प्रदेशाध्यक्ष प्रदीप देशवाल को भी हिरासत में ले लिया था, लेकिन छात्रों की हट के सामने इनसो प्रदेशाध्यक्ष को दो घंटे बाद ही छोड़ना पड़ा। इस पूरे प्रकरण को लेकर पीजीआइ थाना पुलिस ने छात्रों पर ही केस दर्ज कर दिया। छात्रों पर जो केस दर्ज हुआ है उसमें हत्या के प्रयास तक भी संगीन धारा भी लगाई गई है। इन पर हुआ केस दर्ज

जिन छात्रों पर केस दर्ज हुआ है उसमें इनसो के प्रदेशाध्यक्ष प्रदीप देशवाल, एसएफआइ के सुमित, एनएसयूआइ से विशाल श्योराण, छात्र एकता मंच से किरण, प्रदीश शर्मा, मंजीत देशवाल, प्रदीप मोटा, रवि रेडू, मोहित साहू, भीष्म दहिया, साहिल मलिक, नीरज, सक्षम, विकास नांदल, अजय लाठर, जयदीप हुड्डा, विषवेंद्र कादियान, प्रवीण, ज्योति, गीता, लोकेश और 250 अज्ञात शामिल है। इस मामले में 22 नामजद समेत करीब 250 अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच पड़ताल कर रही है।

- देवेंद्र मान, थाना प्रभारी पीजीआइ

Posted By: Jagran