जागरण संवाददाता, रोहतक : शिक्षक वृंद बेहतर समाज तथा राष्ट्र का निर्माण करते हैं। विद्यार्थियों के जीवन को दिशा देने में शिक्षकों की महत्वपूर्ण भूमिका है। महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. बिजेन्द्र कुमार पूनिया ने यह बात कही। वह एमडीयू टीचर्स क्लब द्वारा फैकल्टी क्लब में आयोजित कार्यक्रम में बोल रहे थे। प्रो. बिजेन्द्र कुमार पूनिया ने एमडीयू के शिक्षकों के योगदान को सराहा। उन्होंने कहा कि किसी भी विश्वविद्यालय की विकास यात्रा में शिक्षकों का विशेष योगदान होता है।

इस कार्यक्रम में एमडीयू टीचर्स क्लब के अध्यक्ष डा. दीपक कौशिक ने स्वागत भाषण दिया तथा सभी उपस्थित शिक्षकों, उनके परिजनों तथा विवि अधिकारियों का स्वागत किया। एमडीयू टीचर्स क्लब की ओर से पिछले एक वर्ष में सेवानिवृत हुए प्रो. नेतराम गर्ग, प्रो. मधु गुप्ता, प्रो. अमृता यादव को स्मृति चिह्न भेंट कर सम्मानित किया गया। हरियाणा सरकार द्वारा स्त्री शक्ति पुरस्कार प्राप्त करने वाली प्राध्यापिका सुमेधा धनी को भी स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का संचालन प्राध्यापिका सोनू ने किया।

संगीत विभाग के अध्यक्ष हुकम चंद के संयोजन में संगीत कार्यक्रम का भी आयोजन हुआ। प्रो. हुकम चंद, प्राध्यापक डा. जगदीप ¨सगला, डा. विकास बुधवार समेत अन्य गायक-गायिकाओं ने अपनी संगीतमय प्रस्तुतियों से कार्यक्रम को सजाया।

इस अवसर पर एमडीयू की प्रथम महिला प्रो. वंदना पूनिया, रजिस्ट्रार डा. जितेन्द्र कुमार भारद्वाज, एमडीयू टीचर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष डा. विकास सिवाच, चीफ वार्डन बॉयज प्रो. राधेश्याम, डीन, स्टूडेंट वेल्फेयर प्रो. राजकुमार, टीचर्स क्लब के पदाधिकारी एवं सदस्यगण, एमडीूय के निदेशक एलुमनाई प्रो. राजीव कुमार, विवि फैकल्टी सदस्य तथा उनके परिजन उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran