जेएनएन, रोहतक। परिवहन मंत्री के नाम पर साढ़े सात लाख रुपये ठगने वाली नेत्री पूनम मान बूरा पर लगे आरोपों के बाद अब साध्वी देवा ठाकुर भी सामने आ गई हैं। साध्वी देवा ठाकुर ने फेसबुक पर पोस्ट शेयर की है, जिसमें लिखा है कि पूनम मान बूरा ने उनसे भी सात करोड़ रुपये मांगे थे। उन्होंने जनता से अपील की है कि इन्हें पकड़वाने के लिए पुलिस-प्रशासन और भाजपा का सहयोग करें। उधर, भाजपा जिला अध्यक्ष अजय बंसल का कहना है कि पूनम मान बूरा का पार्टी से कोई लेना देना नहीं है। वह जींद उपचुनाव से पहले जजपा में चली गई थीं।

बता दें, कि कलानौर के गढ़ी बलम गांव निवासी सोमबीर ने सिविल लाइन थाने में नेत्री पूनम मान बूरा पर करीब साढ़े सात लाख रुपये की ठगी का आरोप लगाया था। आरोप है कि नेत्री ने परिवहन मंत्री के नाम पर झांसा देकर सोमबीर के भांजे की रोडवेज में नौकरी लगवाने की बात कही थी, जिसके एवज में रकम मांगी थी। लिस्ट में नाम नहीं आने पर नेत्री से रुपये मांगे गए। आरोप है कि नेत्री ने रुपये देने से मना कर दिया। धमकी दी कि दोबारा से रुपये मांगे तो झूठे केस में फंसा दिया जाएगा।

सिविल लाइन थाना पुलिस ने रविवार को यह मामला दर्ज कर लिया था। इस मामले के बाद नेत्री की तरफ से कोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका दायर की गई है। उधर, साध्वी देवा ठाकुर की पोस्ट के बाद यह मामला और अधिक गरमा गया है। हालांकि पोस्ट में साध्वी देवा ठाकुर ने यह स्पष्ट नहीं किया है कि किस मामले को लेकर पूनम मान बूरा ने उनसे सात करोड़ रुपये मांगे थे।

जजपा में नहीं पूनम मान

उधर जजपा के जिला प्रवक्ता एडवोकेट प्रदीप का कहना है कि पूनम मान बूरा का हमारी पार्टी से कोई मतलब नहीं है। कुछ दिनों के लिए पार्टी में आई थीं, लेकिन फिर भाजपा में चली गई थी। भाजपा के नाम पर ही उनके बयान आते थे।

जल्द कर लिया जाएगा गिरफ्तार

सिविल लाइन के थाना प्रभारी नरेश कुमार का कहना है कि पूनम मान बूरा के खिलाफ ठगी का मामला दर्ज है। पुलिस गिरफ्तारी के प्रयास कर रही है। जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस