जागरण संवाददाता, रोहतक :

रोडवेज की बसों को डिजिटल करने की दिशा में हरियाणा परिवहन निगम ने काम करना शुरू कर दिया है। इसके लिए रोडवेज बसों के परिचालक को जल्द ही इंटरनेट टिक¨टग मशीन दी जाएगी। ईटीएम (इंटरनेट टिक¨टग सिस्टम ) सिस्टम शुरू हो जाने से यात्रियों को टिकट के लिए काउंटर पर लाइन नहीं लगाना पड़ेगा। वहीं डिपो में बैठकर अधिकारी बसों की लोकेशन भी ट्रेस कर सकेंगे। डिपो में इस सिस्टम को लागू करने के लिए मांगी गई जानकारी रोडवेज के मुख्यालय भेजी जा चुकी है।

अभी तक रोडवेज की बसों में यात्रियों को मैनुअल टिकट ही दिया जा रहा है। बसों में ईटीएम सिस्टम शुरू करने के लिए हरियाणा परिवहन निगम ने इस दिशा में पहल शुरू कर दी है। अभी परिवहन निगम ने चंडीगढ़ में इसका ट्रायल शुरू किया है। जल्द ही प्रदेश के सभी डिपो में परिचालकों को ईटीएम मशीन दी जाएगी। इससे परिवहन निगम को फायदा यह होगा कि वे बसों की लोकेशन ट्रेस कर सकेंगे और यात्रियों को लाइन में लगकर टिकट बुक कराने की समस्या से छुटकारा मिल जाएगा। इसके अलावा ईटीएम सेवा लागू होने से सर्वाधिक फायदा परिवहन निगम के अफसरों को होगा।

निगम के अधिकारी अब डिपो में बैठकर ही परिचालकों की निगरानी कर सकेंगे। इससे गड़बड़ी पर अंकुश लग सकेगा। ईटीएम के जरिए बस के चलने का समय, किराए की जानकारी, किलोमीटर, टोल टैक्स व बस रूट की स्थिति भी स्पष्ट हो जाएगी। रोहतक डिपो को इंटरनेट टिक¨टग मशीन दिए जाने पर विचार चल रहा है। रोहतक डिपो से रोजाना 200 के करीब बसें संचालित की जाती है। वहीं डिपो से औसतन 10 हजार से अधिक यात्री परिवहन सुविधा का लाभ ले रहे हैं। 180 के करीब बसें संचालित की जाती है। रोडवेज प्रशासन के एक अफसर ने बताया कि मुख्यालय की ओर से मांगी गई आवश्यक जानकारी भेज दी गई हैं। दो से तीन माह में ईटीएम उपलब्ध होने की संभावना है।

Posted By: Jagran