जागरण विशेष --- फोटो संख्या - 7 - पहले रोजाना सिर्फ 30 तक अप्वाइंटमेंट हो रहे थे

- बीते साल 14 नवंबर को शुरू हुआ था पासपोर्ट सेवा केंद्र अरुण शर्मा, रोहतक

रोहतक के पासपोर्ट सेवा केंद्र में अब ज्यादा आवेदकों के अप्वाइंटमेंट होंगे। अब 30 के बजाय 50 आवेदक अप्वाइंटमेंट पर पहुंचेंगे। मुख्य डाकघर में संचालित सेवा केंद्र पर उपभोक्ताओं की भीड़ को देखते हुए सेवाओं में विस्तार किया गया है। वहीं, उपभोक्ता कहते हैं कि एसी (एयर कंडीशनर) नहीं है। इसलिए गर्मी में इंटरनेट का सर्वर लगातार डाउन हो रहा है। इससे काम भी प्रभावित हो रहे हैं।

पासपोर्ट सेवा केंद्र रोहतक में बीते साल 14 नवंबर से चल रहा है। तकनीकी खामियां भी लगातार सामने आ रही हैं। सबसे ज्यादा इंटरनेट का सर्वर डाउन होने से उपभोक्ता जूझ रहे हैं। बृहस्पतिवार को भी सर्वर डाउन हो गया। सेक्टर-1 के रमेश का कहना है कि सुबह से आए हैं, लेकिन सर्वर डाउन होने से परेशानी हुई। वहीं, 10 माह बाद भी यहां चार के बजाय सिर्फ दो ही कर्मचारी कार्य कर रहे हैं, जबकि आवेदकों की संख्या बढ़ गई है। एसी के लिए मंत्रालय को भेजा गया प्रस्ताव, कर्मचारी दो ही रहेंगे

मुख्य डाकघर के सीनियर पोस्ट मास्टर डीवी सैनी का कहना है कि एसी के लिए मंत्रालय को पत्र लिखा गया है। उम्मीद जताई कि जल्द ही एसी लग सकते हैं। वहीं कर्मचारियों की कम संख्या होने पर उन्होंने कहा कि विदेश मंत्रालय से हमें लिखित में ऐसे आदेश नहीं मिले हैं कि चार कर्मचारी तैनात रहेंगे।

पहले पहले सेवा केंद्र मे दो डाक विभाग और इतने ही कर्मचारी विदेश मंत्रालय की तरफ से तैनात होने थे। अभी तक दोनों विभागों से एक-एक कर्मचारी ही तैनात है। इस वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं

डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डॉट पासपोर्ट इंडिया डॉट जीओवी डॉट इन टोकन वाले काउंटर पर कर्मचारी नहीं

कुल तीन कांउटरों पर दो ही कर्मचारी तैनात हैं। पहले काउंटर पर टोकन मिलते हैं। यहां कर्मचारी नहीं हैं। फिर दस्तावेजों की जांच होती है। दूसरे काउंटर पर ऑनलाइन फोटोग्राफ, फिगरप्रिट, दस्तावेज स्कैन किए जाते हैं। तीसरे पर मूल दस्तावेजों की जांच के बजाय फाइल ऑनलाइन दिल्ली मुख्यालय भेजी जाती हैं। बाहरी राज्यों के उपभोक्ता भी बनवा सकते हैं पासपोर्ट

बाहरी राज्यों के आवेदकों को ऑनलाइन आवेदन के बाद जन्मतिथि से संबंधित 10वीं उत्तीर्ण का दस्तावेज या फिर अन्य कोई दस्तावेज दिखाना होगा। एड्रेस प्रूफ में कुल सात में किसी भी एक दस्तावेज की जरूरत होगी। नाम, पिता का नाम व जन्मतिथि वाले एक-एक दस्तावेज की होगी जरूरत

18 साल से कम के लिए 1000 रुपये और इससे अधिक उम्र के आवेदकों को 1500 रुपये फीस जमा करानी होगी। तत्काल के लिए यही फीस 3500 रुपये है। आवेदकों को ध्यान रखना होगा कि नाम, पिता का नाम, जन्म तिथि से संबंधित एड्रेस प्रूफ और जन्मतिथि से संबंधित एक-एक दस्तावेज की जरूरत होगी। इन दस्तावेजों में नाम, पिता का नाम, जन्म तिथि एक ही होनी चाहिए। यदि संबंधित दस्तावेजों में बदलाव है तो आपको परेशानी होगी।

इन दस्तावेजों में से प्रत्येक की एक-एक कॉपी की होती है जरूरत

1. एड्रेस से संबंधित इनमें से कोई भी एक दस्तावेज हो : वोटर कार्ड, आधार कार्ड, बिजली-पानी का बिल, रेंट एग्रीमेंट, गैस कनेक्शन, शादी होने पर पहले बने पासपोर्ट की कॉपी, माता-पिता के पासपोर्ट की कॉपी, चालू बैंक खाते की कॉपी में कोई भी एक दस्तावेज। 2. जन्म से संबंधित इनमें से कोई एक दस्तावेज हो : बर्थ सर्टिफिकेट, ट्रांसफर/स्कूल लिविग सर्टिफिकेट/10वीं उत्तीर्ण का प्रमाण-पत्र, पूरी व सही जन्मतिथि वाला आधार कार्ड, पैन कार्ड, मौजूदा सरकारी नौकरी पर तैनाती की संबंधित उच्चाधिकारी से अटेस्ट सर्विस बुक, सरकारी नौकरी से रिटायर कर्मचारी को मिलने वाली पेंशन के पे पेंशन आर्डर में से कोई एक दस्तावेज। 3. ईसीएनआर (इमिग्रेशन चेक नोट रिक्वार्ड यानि पढ़े-लिखे) से संबंधित दस्तावेज : 10वीं या फिर उच्च शिक्षा के उत्तीर्ण होने का प्रमाण-पत्र। 4. ईसीआर ( इमिग्रेशन चेक रिक्वार्ड यानि अनपढ़) : विदेश जाने से पहले इमिग्रेशन डिपार्टमेंट से मुहर लगवानी होती है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप