रोहतक, [ओपी वशिष्ठ]। कोरोना महामारी के दौरान युवाओं के  सामने रोजगार का संकट खड़ा हुआ। निजी कंपनियों की छंटनी में भी युवा नौकरी से हाथ धो बैठे। लेकिन, हरियाणा में अब युवा नौकरी के पीछे भागने के बजाए वे अब स्‍वरोजगार की ओर रुख कर रहे हैं। युवा स्टार्टअप शुरू कर रहे हैं।

रोहतक में होटल मैनेजमेंट के विद्यार्थियों ने प्लेसमेंट में ऑफर छोड़ कर स्टार्टअप शुरू

महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय के होटल एंड टूरिज्म मैनेजमेंट के कई ऐसे विद्यार्थी हैं, जिन्होंने खुद के कैफे शुरू किए। न केवल बेहतर आमदनी का जरिया बनाया बल्कि दूसरों को भी रोजगार दे रहे हैं। कोरोना महामारी के कारण हुए नुकसान की चिंता किए बिना दोबारा से कारोबार शुरू कर दिया।

 चचेरे भाइयों ने शुरू किया द स्ट्रीट हाउस कैफे

26 वर्ष के नरेंद्र उर्फ नरेन ने एमडीयू के होटल एंड टूरिज्म मैनेजमेंट से पीजी की डिग्री की। कुछ माह होटल इंडस्ट्री में नौकरी की। लेकिन मन में खुद का स्टार्टअप करने का जज्बा था। इसलिए नौकरी छोड़कर शहर में द स्ट्रीट हाउस कैफे शुरू किया। कोरोना महामारी से पहले शार्ट सर्किट से आग लग गई, जिसमें बड़ा नुकसान हुआ। दोबारा से काम शुरू करने की योजना थी लेकिन कोरोना महामारी आ गई।

लॉकडाउन में सब बंद हो गया। अब दोबारा से उन्होंने सनसिटी हाइट्स में बेहतरीन कैफे शुरू किया, जो ग्राहकों खासकर युवाओं को आकर्षित करता है। नरेन के चचेरे भाई साहिल भी इसमें शामिल हैं, हालांकि उन्होंने एलएलबी तक पढ़ाई की है।

 कैफे को बनाया खास, प्लॉट में रेहड़ी देख आया आइडिया

साहिल ने बताया कि बचपन से कुंकिंग का शौक था। रोहतक में पढ़ते हुए उन्हें कभी भी ऐसी जगह नहीं मिली जहां बैठकर सार्थक चर्चा हो। लाइव म्यूजिक, पोइटरी आदि कराई जाती हो। शहर की कुछ जगहों पर क्रिसमस और न्यू ईयर पर ऐसा होता था। वहां की फीस विद्यार्थी वहन नहीं कर सकते थे। इसलिए नरेन के साथ मिलकर योजना बनाई। खाने-पीने के साथ-साथ लोग लाइव म्यूजिक और पोइटरी और अन्य इवेंट देख सकें। फैमिली भी आए और यंगस्टर भी। इसका आइडिया डीपार्क के समीप एक प्लॉट में लगी रेहडिय़ों को देखकर आया। इसके बाद कई मैट्रो सिटी में रिसर्च किया और हाईजिन स्ट्रीट हाउस का निर्णय लिया।

आग लगने के बाद तनाव में थे, स्टाफ को दिया आधा वेतन

द स्ट्रीट हाउस में मार्च 2020 को आग से सबकुछ राख हो गया। इससे दोनों भाई तनाव में आ गए। वे बताते हैं कि अचानक कोरोना के कारण लॉकडाउन हो गया। लेकिन हिम्मत नहीं हारी। स्टाफ को आधी सेलरी दी। सनसिटी हाइट्स में दोबारा से कारोबार शुरू किया। यहां नए प्रयोग किए। कंसेप्ट जल्द ही हिट हो गया। यूनिवर्सिटी प्रोफेसर, डाक्टर्स, यंगस्टर्स और फैमिली आने लगी। हमने हाईजिन का खास ख्याल रखा। जिसके बाद हेपनिंग प्लेस में कनर्वट किया। शुक्रवार को स्टैंडअप कॉमेडी, शनिवार को लाइव म्यूजिक और रविवार को पोइटरी रिसाइटेसन शुरू कराया। जिसे लोगों ने खूब पसंद किया।

--------

'' एमडीयू होटल एंड टूरिज्म मैनेजमेंट के विद्यार्थियों का जहां प्लेसमेंट बेहतर है, वहीं विद्यार्थी स्टार्टअप भी शुरू करने लगे हैं। दस से बाहर विद्यार्थी यहां से डिग्री लेने के बाद अपना स्टार्टअप शुरू कर चुके हैं। रोहतक के अलावा बहादुरगढ़, सोनीपत, गोहाना और दिल्ली में भी कैफे व रेस्टोरेंट चला रहे हैं।

                                                                             - प्रो. आशीष दहिया, आइएचटीएम, एमडीयू, रोहतक।

Posted By: Sunil Kumar Jha

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस