- हत्या से लेकर एटीएम चोरी और ठगी के कई ऐसे मामले आ चुके सामने

- पकड़ने के बाद अपराधी कबूलता है, सोशल मीडिया या यू-ट्यूब पर देखी थी वीडियो

- यू-ट्यूब पर भी हथियार बनाने से लेकर एटीएम का क्लोन बनाने की तक वीडियो

विनीत तोमर, रोहतक : यू-ट्यूब और सोशल मीडिया के माध्यम से एक क्लिक पर देश, समाज और अन्य कोई भी जानकारी उपलब्ध होती है। जिसका यदि सकारात्मक तरीके से इस्तेमाल किया जाए तो उससे काफी कुछ नई जानकारी मिलती है, लेकिन पिछले कुछ समय में अपराध के ऐसे मामले सामने आए हैं, जिन्होंने सोशल मीडिया या फिर यू-ट्यूब के माध्यम से अपराध का तरीका खोजा और उसे अंजाम भी दिया। यानी कि यू-ट्यूब और सोशल मीडिया पर इस तरह की वीडियो देखकर अपराध की नई पौध तैयार हो रही है। आइए जानते है कुछ ऐसे ही केसों के बारे में। केस : 1

यू-ट्यूब पर सीखा था एटीएम क्लोन तैयार करना

कुछ समय पहले पुलिस की एंटी ऑनलाइन एवं एटीएम फ्रॉड इंवेटीगेशन सेल ने सेक्टर-4 के रहने वाले नरेंद्र को गिरफ्तार किया था। आरोपित ने खुलासा किया था कि वह वेब डिजाइनिग का काम करता है। आरोपित ने यू-ट्यूब पर वीडियो देखकर एटीएम क्लोन के बारे में जानकारी जुटाई थी। जिसके बाद उसने कार्ड स्कैन करने वाली मशीन मंगवाई। जैसे ही एटीएम में कोई रुपये निकालने के लिए जाता था तो उसकी मदद के बहाने से कार्ड ले लेता था। मौका मिलते ही हाथ में ली गई मशीन में कार्ड स्कैन कर लेता था। इसके बाद आरोपित एटीएम से रुपये निकाल लेता था। केस : 2

इंटरनेट पर वीडियो देखकर की थी भाई की हत्या

समरगोपालपुर गांव में भी इंटरनेट पर वीडियो देखकर युवती ने अपने ही भाई की हत्या कर दी थी। धर्म उर्फ मोंटी का शव उसके ही घर में मिला था। इस मामले में पुलिस ने उसकी बहन काजल को गिरफ्तार किया था। इस मामले में सामने आया था कि युवती अपने प्रेमी से बात कर रही थी, जिसे उसके भाई ने देख लिया था। इसके बाद युवती ने इंटरनेट पर वीडियो देखकर हत्या की साजिश रची थी। बातों में उलझाकर भाई को कुर्सी से बांध दिया और फिर उसके सिर पर हथौड़े से वार किए थे। बाद में चाकू से गला भी काट दिया था। केस : 3

वीडियो देख महिला ने करा दिया था दुष्कर्म का झूठा मामला दर्ज

कुछ माह पहले पुलिस ने एक महिला को पकड़ा था। आरोपित महिला ने फेसबुक पर युवक से दोस्ती की और फिर उसे अपने घर बुला दिया। जिसके बाद उसे धमकी दी कि यदि रुपये नहीं दिए तो वह दुष्कर्म के केस में फंसा देगी। युवक के खिलाफ पुलिस में शिकायत भी दे दी गई थी, जिस समय युवक को थाने बुलाया गया तो पूरे मामले का खुलासा हुआ। योजना के तहत युवक समझौते के नाम पर रुपये लेकर महिला से मिलने पहुंचा और तब पुलिस ने उसे रंगेहाथ रुपये लेते पकड़ा था। इस मामले में भी सामने आया था कि इंटरनेट पर इस तरह की वीडियो देखकर महिला ने युवक को ब्लैकमेल करने की योजना बनाई थी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप