जागरण संवाददाता, रोहतक : मोखरा गांव के केमिस्ट नसीब की हत्या मेडिकल स्टोर खोलने को लेकर हुई थी। आरोपितों ने उसे पहले भी कई बार धमकी दी थी, लेकिन उसने अनसुना किया। इसके बाद आरोपितों ने योजनाबद्ध तरीके से गोली और चाकू मारकर उसकी हत्या कर दी। सीआइए-2 के हत्थे चढ़े आरोपितों ने पुलिस पूछताछ में यह जानकारी दी।

शनिवार को डीएसपी गजेंद्र ¨सह ने लघु सचिवालय में प्रेस कांफ्रेंस कर हत्याकांड का खुलासा किया। डीएसपी ने बताया कि 24 जुलाई को मोखरा गांव के केमिस्ट नसीब की आइएमटी में गोली और चाकू मारकर हत्या कर दी थी। मृतक के परिजनों ने आरोप लगाया था कि वह खरावड़ गांव में मेडिकल स्टोर खोलना चाहता था। वहां पर पहले से ही मेडिकल स्टोर करने वाले उससे रंजिश रख रहे थे। शुक्रवार शाम सीआइए-2 प्रभारी आजाद ¨सह की टीम ने हत्याकांड के मुख्य आरोपित अमित, वीरेंद्र, जसबीर और मोहित को गिफ्तार कर लिया। आरोपितों ने हत्याकांड को अंजाम देना स्वीकार किया। पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि अमित गांव में ही मेडिकल स्टोर चलाता था। वह नहीं चाहता था कि नसीब वहां पर मेडिकल स्टोर खोले। उसने कई बार धमकी भी दी थी। लेकिन नसीब ने उसे गंभीरता से नहीं लिया। इसके चलते उसके हत्या की योजना बनाई गई। वह 24 जुलाई की शाम से ही नसीब की रेकी कर रहे थे और मौका मिलते ही उसकी हत्या कर दी। पुलिस आरोपितों से पूछताछ कर रही है।

Posted By: Jagran