संवाद सहयोगी, सांपला : कस्बे के छोटूराम संग्राहलय के नजदीक दुल्हेड़ा माइनर की पटरी पर व्यक्ति का शव मिलने से सनसनी फैल गई। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। शव की शिनाख्त नहीं होने पर पुलिस ने उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मृतक के शरीर पर जगह-जगह चोट के निशान थे, साथ ही उसके ऊपर फसल में डालने वाली कीटनाशक दवा भी बिखरी हुई थी।

शनिवार सुबह दुल्हेड़ा माइनर की पटरी पर एक व्यक्ति का शव पड़ा हुआ था। जिसकी उम्र करीब 42 वर्ष थी। मृतक ने नीली टी-शर्ट और चॉकलेट कलर का पजामा पहना हुआ था। शव के पास पानी की खाली बोतल और नमकीन का पैकेट भी था। वहां से गुजर रहे लोगों ने शव की जानकारी पुलिस को दी, जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची। मृतक की गर्दन और बाएं हाथ पर चोट के निशान थे। साथ ही उसके शरीर व आसपास में खेतों में डाली जाने वाली कीटनाशक दवा भी बिखरी हुई थी। पुलिस ने मौके से कीटनाशक दवाई के चार पाऊच भी बरामद किए हैं। ऐसे में पुलिस भी असमंजस में है कि व्यक्ति की हत्या हुई है या फिर उसने आत्महत्या की है। पुलिस ने शव की शिनाख्त कराने का प्रयास किया, लेकिन शिनाख्त नहीं हो सकी। मौके पर एफएसएल टीम को भी बुलाया गया। इसके बाद पुलिस ने शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। यह उठ रहे सवाल

जिस तरीके से मृतक के शरीर पर चोट के निशान थे उससे लग रहा है कि मृतक को आसपास किसी स्थान से घसीटा गया हो। यह भी माना जा रहा है कि व्यक्ति शराब के नशे में नहर में गिर गया हो, जिसे किसी ने बाहर निकाल दिया। क्योंकि उसके हाथ पर रेत भी लगा हुआ था। हालांकि गर्मी के कारण उसके कपड़े सूखे हुए थे। पुलिस मामले की गहनता से जांच पड़ताल कर रही है। ::::व्यक्ति की हत्या हुई है या फिर उसने आत्महत्या की है इस बारे में अभी कुछ नहीं कहा जा सकता। फिलहाल शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। उसकी शिनाख्त का भी प्रयास किया जा रहा है।

- कुलबीर ¨सह, थाना प्रभारी सांपला

Posted By: Jagran