जागरण संवाददाता, रोहतक : महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय (एमडीयू) प्रबंधन विद्यार्थियों का बीमा कराएगा। प्रदेश का पहला विवि जहां इस तरह की योजना चलाई जाएगी। यूनिवर्सिटी टीचिग डिपार्टमेंट्स (यूटीडी) के विद्यार्थियों का बीमा सत्र 2021-22 में कराया जाएगा। इसके लिए देश की प्रतिष्ठित बीमा कंपनी भारतीय जीवन बीमा निगम से एमडीयू ने करार किया है। विद्यार्थियों का सामूहिक बीमा कराया जाएगा। दाखिले के समय ट्यूशन व अन्य फीस के साथ यूटीडी के विद्यार्थियों को 48 रुपये बीमा का वार्षिक प्रिमियम भरना होगा। पॉलिसी का वार्षिक प्रिमियम 80 रुपये है, लेकिन करार के अनुसार यह 48 रुपये किया गया है। इतनी ही राशि एमडीयू प्रिमियम के रूम में देगी। क्योंकि, जीएसटी मिलाकर प्रिमियम की कुल रकम 96 रुपये होती है। संबद्ध कालेजों में नहीं लागू होगी योजना

एमडीयू प्रबंधन ने फिलहाल एक पायलेट प्रोजेक्ट के तहत यूटीडी के विद्यार्थियों के लिए यह योजना लागू की है। संबद्ध कालेजों के विद्यार्थियों के लिए यह योजना इस सत्र में संचालित नहीं की जाएगी। यूटीडी के विद्यार्थियों के लिए यदि योजना सफल होती है तो कालेजों में भी लागू की जाएगी। यूटीडी के प्रत्येक विद्यार्थी के लिए बीमा योजना अनिवार्य रहेगी। एक लाख मिलेगा बीमा क्लेम

योजना में शामिल विद्यार्थियों के साथ किसी प्रकार की अनहोनी होने पर अभिभावकों को एक लाख रुपये का क्लेम दिया जाएगा। प्राकृतिक और दुर्घटनात्मक दोनों प्रकार की अनहोनियों पर यह क्लेम बीमा कंपनी देगी। अगस्त और सितंबर में शुरू होने वाले शैक्षणिक सत्र में विद्यार्थियों को फीस के साथ 48 रुपये दी जाएगी। विद्यार्थी कल्याण कोष में यह पैसा जमा होगा। कोष में जमा पैसा प्रीमियम के रूप में जमा कराया जाएगा। वर्जन

यूटीडी के विद्यार्थियों के लिए सामूहिक बीमा योजना शुरू की गई है। हमारा प्रयास है कि विद्यार्थी कल्याण के लिए ज्यादा से ज्यादा योजनाओं पर काम किया जाए। योजना सफल होने पर विवि के संबद्ध कालेजों में भी लागू करेंगे।

- प्रो. राजकुमार, डीन स्टूडेंट वेलफेयर, एमडीयू, रोहतक।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस