जागरण संवाददाता, रोहतक : जेल से पैरोल पर आने के बाद फरार चल रहे करतार माडोठी गैंग के 25 हजारी इनामी बदमाश संदीप उर्फ सैंडी को सीआइए-1 की टीम ने गिरफ्तार कर लिया। आरोपित को हत्या के मामले में उम्रकैद की सजा हो चुकी थी, लेकिन पिछले साल पैरोल पर आने के बाद वह फरार हो गया था। इसके बाद उसने यूपी के बागपत जिले में रहकर अपनी फरारी काटी थी। आरोपित को कोर्ट में पेश कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। वर्ष 2011 में साथियों के साथ मिलकर बहादुरगढ़ में की थी एक व्यक्ति की हत्या

सीआइए-1 प्रभारी बिजेंद्र भंडारी ने बताया कि चुलियाना गांव निवासी संदीप उर्फ सैंडी ने वर्ष 2011 में अपने साथियों के साथ मिलकर बहादुरगढ़ में एक व्यक्ति की हत्या की थी। जिसका मामला बहादुरगढ़ सदर थाने में दर्ज हुआ था। आरोपित को कोर्ट ने दोषी करार देते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई थी। पिछले साल 16 मई को वह छह सप्ताह के पैरोल पर जेल से बाहर आया था। इसके बाद वह पेश नहीं हुआ और फरार हो गया। कोर्ट के आदेश पर आरोपित के खिलाफ सांपला थाने में मामला दर्ज कराया गया था। रोहतक पुलिस की तरफ से आरोपित पर 25 हजार का इनाम भी घोषित किया गया था। पुलिस तभी से आरोपित की तलाश में लगी थी। जांच में पता चला कि फरवरी माह में दिल्ली पुलिस की टीम ने आरोपित को अवैध हथियार के मामले में गिरफ्तार किया था। इसके बाद सहायक उप निरीक्षक पंकज की टीम ने आरोपित को प्रोडक्शन वारंट पर लेकर उसे गिरफ्तार किया। फरारी के दौरान बदलता रहता था नाम

पुलिस के अनुसार, फरार होने के बाद आरोपित बागपत में जाकर छिप गया था। वह लोगों को अपना नाम भी बदल-बदलकर बताता था और वहीं पर स्थानीय गैंग के संपर्क में आ गया था। हालांकि वह करतार मांडोठी गैंग के लिए काम करता है। हत्या के मामले में करतार को भी उम्रकैद की सजा हो रखी है। अब पुलिस पता कर रही है कि वह बागपत में किन-किन लोगों के संपर्क में था।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप