जागरण संवाददाता, रोहतक : सीआइए-1 की टीम अलग-अलग स्थानों से अवैध हथियार के साथ चार आरोपितों को गिरफ्तार किया है। जिनसे पूछताछ के बाद हत्या और लूट की दो वारदात का पर्दाफाश हुआ है। आरोपित 6 जनवरी को हुई बिल्डिग मैटीरियल सप्लायर जगदेव हत्याकांड की साजिश में भी शामिल रहे थे।

प्रभारी अनेश कुमार ने बताया कि एएसआइ संत कुमार के नेतृत्व में उनकी टीम गश्त कर रही थी। झज्जर रोड एक रुपया चौक के पास दो युवकों को शक के आधार पर पकड़ा गया। जिनकी पहचान सोनीपत जिले के खेड़ी दमकन गांव निवासी बंटी और मोहित के रूप में हुई। तलाशी लेने पर आरोपितों के पास से पिस्तौल और तीन कारतूस बरामद हुए। इसके अलावा मुख्य सिपाही संजय की टीम ने भी रेलवे लाइन के पास से दो युवकों को गिरफ्तार किया। इनके पास से भी पिस्तौल और कारतूस मिले। जांच में सामने आया कि चारों आरोपितों का पुराना आपराधिक रिकार्ड रहा है। आरोपितों ने करीब दो माह पहले मुरथल एरिया में कार की लूट की वारदात को अंजाम दिया था। जिसमें वह फरार चल रहे थे। इसके अलावा शीतल नगर के रहने वाले बिल्डिग मैटीरियल सप्लायर जगदेव हत्याकांड की साजिश में भी शामिल रहे थे। जिसकी 6 जनवरी को गोली मारकर हत्या की गई थी। फिलहाल आरोपितों से पूछताछ की जा रही है। जगदेव हत्याकांड में मुख्य आरोपित आकाश और पंकज अभी फरार चल रहे हैं। जिन्हें पकड़ने के लिए दबिश दी जा रही है। इस मामले में पुलिस गहनता से छानबीन में जुटी है। विभिन्न एंगल से इस मामले की जांच की जा रही है।

Edited By: Jagran