संवाद सहयोगी, सांपला : गांव हसनगढ़ स्थित राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण केंद्र में मंगलवार को अनुदेशकों ने गेट मी¨टग करके अपनी मांगों को लेकर रोष प्रकट किया। आइटीआइ अनुबंधित एवं नियमित अनुदेशक संयुक्त कार्य समिति के बैनर के नीचे अनुदेशकों ने काले बिल्ले लगाकर सरकार के प्रति नारागजी जताई। गेट पर पहुंचकर रोष प्रकट किया। कर्मचारियों को संबोधित करते हुए कर्मचारी नेता जितेंद्र बराक सरकार नियमित भर्ती से पहले अनुबंधित अनुदेशकों को विशेष पालिसी बनाकर पक्का करने का काम करे। हरियाणा कर्मचारी आयोग जारी किया गया विज्ञापन वापिस लिया जाए तथा तत्काल अनुबंधित अनुदेशकों को बकाया एरियर, महंगाई भत्ते व एलटीसी का भूगतान किया जाए। जितेंद्र बराक ने कहा कि पिछले वर्ष 18 जनवरी को हरियाणा ओद्योगिक प्रशिक्षण तकनीकी कर्मचारी संघ के तत्कालीन प्रधान सचिव की उपस्थिति में अपनी मांगों को लेकर मुख्यमंत्री से आठ मुद्दों पर वार्ता हुई थी। वार्ता के दौरान मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने पांच मांगों को मौके पर ही पूरी करने का वायदा किया था। उन्होंने कहा कि एक वर्ष से भी ज्यादा समय हो चुका है, लेकिन अभी तक एक भी मांग पूरी नहीं की गई है। उन्होंने कहा कि अगर सरकार आगामी 16 मार्च तक कोई ठोस निर्णय नहीं लेती है तो 17 मार्च को अनुबंधित अनुदेशक फरीदाबाद में होने वाले महापड़ाव में भाग लेंगे। इस दौरान कर्मचारियों ने अपनी मांगों को लेकर सरकार के विरोध में नारेबाजी की। इस अवसर पर कर्मचारी नेता परमजीत, मुकेश, त¨जद्र, राजेश कुमार, बलजीत व दीपक पुनिया सहित अन्य कर्मचारी मौजूद थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप