जागरण संवाददाता, रोहतक :

अल्पसंख्यक समुदाय के कल्याण के लिए भारत सरकार के अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा अलग-अलग योजनाएं चलाई जा रही है। इन योजनाओं की जानकारी लोगों तक पहुंचाने के लिए उपायुक्त ने शुक्रवार को जिला समाज कल्याण अधिकारी को निर्देश जारी किया है। जिसके तहत वह अल्पसंख्यक समाज के लिए चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी समुदाय के लोगों के बीच जाकर देंगे।

उपायुक्त डा. यश गर्ग ने बताया कि अल्पसंख्यक समुदाय की छात्राओं को पढ़ाई के प्रति प्रोत्साहित करने के लिए बेगम हजरत महल राष्ट्रीय छात्रवृति योजना को लागू किया गया है। इस योजना के तहत अल्पसंख्यक समुदाय की छात्राओं की पहचान करके उन्हें पढ़ाई के लिए प्रेरित किया जाता है और छात्रवृति प्रदान की जाती है। उन्होंने बताया कि समुदाय के लिए नई मंजिल के नाम से भी योजना लागू की गई है। जिसके तहत युवाओं को रचनात्मक तौर पर नियंत्रित किया जाता है और रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने में भी युवाओं की मदद भी की जाती है। उपायुक्त ने बताया कि पारंपरिक कलाओं का प्रशिक्षण भी उस्ताद योजना के तहत समुदाय के बच्चों को दिया जाता है। इसके अलावा अल्पसंख्यक समुदाय के बच्चों को हमारी धरोहर कार्यक्रम के तहत भारतीय संस्कृति और देश की एकता व अखंडता के लिए भी प्रेरित किया जाता है। शुक्रवार को जिला समाज कल्याण अधिकारी महाबीर प्रसाद गोदारा ने शीशे वाली मस्जिद में अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों को उनके कल्याण के लिए चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं की विस्तार से जानकारी दी और मिठाइयां बांटी।

Posted By: Jagran