जागरण संवाददाता, रोहतक : पीजीआइ में लगे सीसीटीवी कैमरे में एक फर्जी डाक्टर कैद हुआ है, जो खुद को ऑर्थो का डाक्टर बताकर स्टाफ को धमकाता था। साथ ही नर्सों के फोटो भी खींचता था। सीसीटीवी कैमरे में फर्जी डाक्टर के साथ आरडीए (रेजिडेंट डाक्टर एसोसिएशन) के प्रधान डा. जंगवीर ग्रेवाल भी साथ दिख रहे हैं। इस मामले में सीसीटीवी फुटेज के साथ डीएमएस की तरफ से सितंबर माह में एसपी को शिकायत दी गई थी। जिसकी जांच पड़ताल के बाद पीजीआइ थाना पुलिस ने अब तीन माह बाद दोनों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

पुलिस को दी गई शिकायत में डीएमएस डा. संदीप ने बताया था कि पीजीआइ में काफी समय से शिकायत मिल रही थी कि कोई व्यक्ति खुद को डाक्टर बताकर यहां पर घूमता है। जो नर्सों की फोटो खींचता है और ऑपरेशन थियेटर में भी बिना किसी से पूछे घुस जाता है। ट्रामा सेंटर से लेकर अन्य स्थानों की भी वीडियोग्राफी करता है। कई बार स्टाफ के साथ भी अभद्र बर्ताव करता है। सितंबर माह में आरोपित सीसीटीवी फुटेज में कैद हो गया, जिसके साथ आरडीए के प्रधान डा. जंगवीर ग्रेवाल भी दिखाई दे रहे हैं, जो उसे दिशा-निर्देश दे रहे हैं। जिसमें दोनों की मिलीभगत दिखाई दे रही है। सीसीटीवी फुटेज से प्रमाण इक्ट्ठा कर इसकी शिकायत सितंबर माह में ही एसपी से की गई थी। एसपी से जांच पड़ताल के बाद शिकायत को अब पीजीआइ थाने भेजा गया। जिसके आधार पर अब पुलिस आरोपित कृष्ण कुमार निवासी गरनावठी कलानौर और आरडीए प्रधान के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। देर रात तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी थी। हर धरने-प्रदर्शन में दिखता था आरोपित

पीजीआइ प्रशासिक अधिकारियों के अनुसार, आरोपित उन पर दबाव बनाने के लिए हर धरने-प्रदर्शन और हड़ताल में बढ़-चढ़कर भाग लेता था। हमेशा खुद को ऑर्थो का डाक्टर बताता है, जबकि उसकी पढ़ाई भी इतनी नहीं है। यहां तक कि आरोपित ने पीजीआइ प्रशासन के खिलाफ अनगिनत आरटीआइ लगा रखी थी। साथ ही सीएम ¨वडो और अन्य स्थानों पर भी झूठी शिकायत कर संस्थान की छवि धूमिल कर रहा था। फर्जी डाक्टर के साथ मिले है असली डाक्टर

डीएमएस का आरोप है कि फर्जी डाक्टर के साथ संस्थान के कुछ डाक्टर भी मिले हैं, जो उसका परिचय स्टाफ से कराते थे। फर्जी डाक्टर का काम लोगों को ब्लैकमेल करना था। सितंबर माह में ही एसपी को शिकायत कर दी गई थी, जिसके बाद डीएसपी मोहम्मद जमाल ने इसकी जांच पड़ताल की और अब यह मामला पीजीआइ थाने में दर्ज किया गया है। मोबाइल मिला स्विच ऑफ

इस मामले में जब आरडीए के प्रधान डा. जंगवीर ग्रेवाल से उनका पक्ष जानने के लिए फोन किया गया तो शाम करीब साढ़े सात बजे उनका मोबाइल स्विच ऑफ आता रहा। कई बार प्रयास के बाद भी संपर्क नहीं हो सका।

पीजीआइ प्रशासन की तरफ से उच्च अधिकारियों को शिकायत दी गई थी, जिसकी जांच पड़ताल के बाद अब यह थाने में आई है। अधिकारियों के आदेशानुसार, कृष्ण कुमार और डा. जंगवीर ग्रेवाल के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है।

- देवेंद्र मान, थाना प्रभारी पीजीआइ

Posted By: Jagran