जेएनएन, रोहतक। Ram Rahim and Honeypreet meet: सुनारिया जेल में बंद साध्वी दुष्कर्म व पत्रकार हत्याकांड के दोषी डेरा सच्चा सौदा सिरसा के प्रमुख गुरमीत सिंह से उसकी गोद ली बेटी हनीप्रीत इंंसा (Honeypreet Insan) की मुलाकात 835 दिनों के बाद हुई। 25 अगस्त 2017 के बाद से जेल में बंद गुरमीत के बदले स्वरूप को देखकर एक बार तो उसे यकीन ही नहीं हुआ। मगर जब बातचीत शुरू हुई तो वह फूट-फूटकर रोने लगी। करीब आधा घंटा बातचीत के दौरान कई बार दोनों भावुक भी हुए। सुरक्षा के मद्देनजर हनीप्रीत की डेरामुखी से होने वाली मुलाकात को पूरी तरह से गोपनीय रखा गया था, ताकि किसी प्रकार की कानून व्यवस्था न बिगडऩे पाए। 

हनीप्रीत दोपहर करीब ढाई बजे सुनारिया जेल में पहुंची। उसके साथ डेरा की चेयरपर्सन शोभा गेरा, चरणजीत व दो वकील भी साथ थे। जेल परिसर से पहले तीन जगहों पर उनकी कार की गहनता से जांच की गई। इसके बाद गुरमीत से मुलाकात के लिए कक्ष में जाने दिया।

लोहे की ग्रिल, शीशे और जाली के अंदर से गुरमीत सिंह देखकर हनीप्रीत को एक बार तो यकीन ही नहीं हुआ, क्योंकि जेल में आने से पहले गुरमीत का वजन सौ किलो ग्राम से अधिकथान और दाढ़ी पूरी तरह से काली थी। अब 15 से 20 किलो वजन कम हो चुका है और दाढ़ी भी पूरी सफेद हो गई है। डेरामुखी का बदला स्वरूप देखकर हनीप्रीत की आंखों में आंसू आ गए। फूट-फूट कर रोने लगी। किसी तरह खुद को संभाला क्योंकि मुलाकात का समय भी निर्धारित था।

अगस्त 2017 को हेलीकॉप्टर में साथ पहुंची थी हनीप्रीत 

पंचकूला स्थित सीबीआइ की विशेष अदालत ने 25 अगस्त 2017 को जब डेरा प्रमुख को साध्वी यौन मामले में दोषी करार दिया था तब उसे हवाई मार्ग से सुनारिया जेल पहुंचाया गया। गुरमीत के साथ ही हेलीकॉप्टर में हनीप्रीत भी सुनारिया जेल पहुंची थी। इसके बाद दोनों की कोई मुलाकात नहीं हुई। बाद में पंचकूला में ङ्क्षहसा भड़कने के मामले में हनीप्रीत को भी देशद्रोह के मामले में गिरफ्तार कर जेल में भेज दिया था। देशद्रोह की धारा हटने के बाद हनीप्रीत को जमानत पर रिहा कर दिया गया। इसके बाद हनीप्रीत डेरा प्रमुख से मिलने के प्रयास में थी। मगर सिरसा पुलिस प्रशासन ने कानून व्यवस्था बिगडऩे का हवाला देकर मुलाकात नहीं कराने की रिपोर्ट दी। अब जेल मैनुअल के मुताबिक हनीप्रीत की सोमवार को गुपचुप तरीके से मुलाकात करवा दी गई। 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस