जागरण संवाददाता, रोहतक : खरावड़ गांव में युवक और सुनारिया कलां गांव में 10वीं की छात्रा ने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। दोनों मामलों में संबंधित थाना पुलिस ने इत्तेफाकिया कार्रवाई की है। खरावड़ गांव का रहने वाला 28 वर्षीय विनय प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता था। कुछ समय पहले उसकी नौकरी छूट गई थी। रविवार रात विनय ने छत पर बने कमरे में पंखे पर परना बांधकर फंदा लगा लिया।

Karnal News: साली को भगाने पर सात बच्चों के पिता को जूतों की माला पहनाकर निकाला जुलूस, पिलाया मूत्र

सोमवार सुबह स्वजनों को इसका पता चला, लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। सूचना मिलने पर आइएमटी थाना पुलिस मौके पर पहुंची और शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया गया। थाना प्रभारी इंस्पेक्टर सत्यपाल सिंह ने बताया कि स्वजनों से इस बारे में बातचीत की गई है, जिन्होंने बताया कि विनय मानसिक रूप से परेशान रहता था। इसी वजह से उसने यह कदम उठाया है।

छात्रा थी बीमार, पुलिस मामले की जांच में जुटी

सुनारिया कलां गांव में भी छात्रा ने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। जिसकी पहचान 15 वर्षीय अनीसा के रूप में हुई, जो 10वीं क्लास की छात्रा थी। उसने अपने ही घर में फंदा लगा लिया। पता चलने पर शिवाजी कालोनी थाना पुलिस मौके पर पहुंची।

Haryana News: राम रहीम ने तलवार से काटा केक, चलाया सफाई अभियान; हजारों डेरा सेवादारों ने किया शहर साफ

पुलिस ने शव की तलाशी ली, लेकिन सुसाइड नोट या अन्य ऐसा कोई साक्ष्य नहीं मिला जिससे आत्महत्या के कारणों का पता चल सके। थाना प्रभारी इंस्पेक्टर शमशेर सिंह ने बताया कि छात्रा कई दिनों से बीमार चल रही थी, जिस कारण वह मानसिक रूप से परेशान थी। मामले में इत्तेफाकिया कार्रवाई की गई है।

दोनों ही मामलों में युवक व छात्रा मानसिक रूप से बीमार थे। हालांकि मौके से कोई भी सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है। पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है।  

Edited By: Himani Sharma

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट