जागरण संवाददाता, रोहतक : प्रदेश की फिल्म नीति से अब हरियाणवी फिल्म इंडस्ट्री का विकास होगा और नवोदित कलाकारों को अभूतपूर्व प्रोत्साहन मिलेगा। प्रदेश में सभी प्रकार की कलाओं का सामान विकास ही हरियाणा कला परिषद का प्रथम लक्ष्य है। यह बात हरियाणा कला परिषद और मल्टी आर्ट के रोहतक व हिसार डिविजन के निदेशक गजेंद्र फौगाट ने कही। वह मल्टी आर्ट और जीडी गोयंका इंटरनेशनल स्कूल के संयुक्त तत्वावधान में कठपुतली कार्यक्रम में मौजूद बच्चों को संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम थिएटर ऑन बाइकस के सदस्यों राजेश, दीपक, तेजेंदर, और विशाल ने प्रस्तुत किया। इस अवसर पर कार्यक्रम में प्रदेश के विख्यात कलाकार अजय हुड्डा, अभिनय कला मंच के निदेशक मनीष जोशी, स्कूल की ¨प्रसिपल रेखा गुलिया समेत कई गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे। बच्चों ने स्वागत गीत गाया व कठपुतली शो का आनंद उठाया । शो में गुड व बेड टच के बारे में बच्चों को कठपुतली शो के माध्यम से जानकारी दी गयी ।

फौगाट ने बताया कि प्रदेश की इस फिल्म नीति के अनुसार सात श्रेणियों में फिल्मों का वर्गीकरण होगा, जिसमें हरियाणवी फिल्म, गैर-हरियाणवी फिल्म, अंतरराष्ट्रीय फिल्म, मेगा प्रोजेक्टस, शॉट फिल्म, डाक्यूमेंटरी फिल्म या डेव्यू फिल्म और प्रोत्साहन क्रेडिट प्वाइंट सिस्टम के अनुसार मुहैया करवाया जाएगा।

Posted By: Jagran