जागरण संवाददाता, रोहतक :

मोखरा गांव निवासी बुजुर्ग रामकुमार और उनकी पत्नी का बुढ़ापा पेंशन नहीं बन रही है। सरकारी विभागों के एक वर्ष से अधिक समय से राजकुमार पत्नी सहित चक्कर काट रहे हैं। पेंशन नहीं मिलने के कारण मजबूरन मजदूरी कर बुजुर्ग जीवन यापन कर रहा है। पेंशन बनवाने के लिए उसने सीएम ¨वडो पर भी शिकायत दी है। उसके बाद भी पेंशन नहीं बनाई जा रही है।

बुजुर्गो को गुजर बसर करने के लिए प्रदेश सरकार की ओर से बुढ़ापा पेंशन देने की योजना चलाई गई है। उसके बाद भी बुढ़ापा पेंशन नहीं बनाया जा रहा है। 73 वर्षीय रामकुमार ने बताया कि जब भी पेंशन बनवाने के लिए समाज कल्याण विभाग में जाता हूं तो वहां जन्म प्रमाण पत्र मांगते है। वहीं जब मोखरा के अस्पताल में जन्म प्रमाण पत्र के लिए जाता हूं तो वहां के डाक्टर कह कर वापस कर देते हैं कि यहां पर उनके और उनकी पत्नी का जन्म रिकार्ड नहीं है। रामकुमार ने बताया कि वह अपना और अपनी 72 वर्षीय पत्नी मूर्ति का आधार कार्ड, वोटर आईडी और राशन कार्ड लेकर एक वर्ष से सरकारी कार्यालयों का चक्कर लगा रहा हूं। इसके अलावा पेंशन बनवाने के लिए सीएम ¨वडो पर भी शिकायत दी है लेकिन अभी तक पेंशन नहीं बनाया गया। पेंशन नहीं बनने के कारण मजबूर मजदूरी कर गुजारा करना पड़ रहा है। वहीं उपायुक्त डा. यश गर्ग ने बताया कि इस संबंध में कोई शिकायत नहीं आई है। अब मामला संज्ञान में आया है। बुजुर्ग की समस्या का समाधान किया जाएगा।

Posted By: Jagran