जागरण संवाददाता, रोहतक : पत्नी द्वारा राखी बांधने से आहत पति ने तीन काउंस¨लग के बाद भी उसे अपनी पत्नी मानने से इंकार कर दिया। युवक का कहना है कि अब वह उसे अपनी पत्नी नहीं मान सकता और जल्दी ही तलाक के लिए कोर्ट में अर्जी दाखिल करेगा। वहीं पत्नी अपनी गलती मानकर इस विवाद को खत्म करना चाहती है।

यह था मामला

दरअसल, शहर के एक मुहल्ले में रहने वाले युवक ने पिछले सप्ताह पुलिस को शिकायत दी थी। इसमें युवक ने बताया था कि उसकी पत्नी ने रक्षाबंधन के दिन हाथ में राखी बांध दी थी, जिससे समाज में उसकी छवि खराब हुई थी। बेइज्जती के कारण वह घर से बाहर भी नहीं निकल पा रहा था। मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए इसे कम्यूनिटी लाइ¨जग ग्रुप के पास भेज दिया था। वहां पर पत्नी ने तर्क दिया था कि उसका पति शराब पीने का आदी है। इस कारण वह उससे परेशान हो चुकी है। जबकि पति ने भी उसे पत्नी मानने से इंकार कर दिया था।

लगातार चल रही है काउंस¨लग

दोनों के बीच चल रहे इस विवाद को खत्म करने के लिए तभी से पति-पत्नी की काउंस¨लग की जा रही है। ग्रुप के सदस्य अभी तक दोनों की तीन बार काउंस¨लग कर चुके हैं। दोनों को समझाया जा रहा है। सूत्रों की मानें तो काउंस¨लग के बाद भी युवक उसे अपनी पत्नी मानने को तैयार नहीं हो रहा। वह बार-बार कह रहा है कि जब पत्नी ने राखी बांध दी तो फिर पत्नी का रिश्ता कैसा। यहां तक कि युवक दावा कर रहा है कि वह जल्दी ही तलाक के लिए कोर्ट में अर्जी दायर करेगा। उधर, पत्नी भी तभी से अपनी गलती मान रही है। उसका कहना है कि उसने गुस्से में आकर यह कदम उठा दिया था, लेकिन अब वह भविष्य में ऐसा कभी नहीं करेगी। पत्नी इस विवाद को खत्म करना चाहती है। हालांकि ग्रुप के सदस्य प्रयास कर रहे हैं कि पति-पत्नी के विवाद को खत्म करा दिया जाए।

Posted By: Jagran