जागरण संवाददाता, रोहतक : टिटौली गांव में सोमवार को एक अधेड़ व्यक्ति की मौत हो गई जबकि 15 कोरोना के नए केस सामने आए हैं। गांव में पिछले दस दिन में 20 लोगों की मौत हो चुकी है और स्वास्थ्य विभाग द्वारा की गई जांच में 91 लोग कोरोना संक्रमित मिल चुके हैं। एसडीएम राकेश कुमार और बीडीपीओ राजपाल चहल ने गांव का दौरा किया और स्कूल में कोविड केयर सेंटर बनाने की प्रक्रिया शुरू करवाई। पहले स्वामी इंद्रवेश विद्यापीठ में सेंटर बनाने की योजना था, लेकिन फैसला बदल दिया। क्योंकि वहां पर कई सन्यासी व अन्य कर्मचारी रहते हैं, जो गायों की सेवा भी करते हैं।

गांव टिटौली में लगातार हो रही मौत का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। रविवार को जहां दो लोगों की मौत हुई थी, वहीं सोमवार को एक 54 वर्षीय व्यक्ति ने दम तोड़ दिया। स्वास्थ्य विभाग ने गांव में सैंपलिग की प्रक्रिया तेज कर दी है। 75 लोगों के सैंपल लिए गए, जिनमें से 15 कोरोना संक्रमित मिलें। ग्रामीणों में अब लगातार हो रही मौतों को काफी खौफ है। कोरोना महामारी नियमों की हिदायतों का पालन भी अब ग्रामीण करने लगे। रविवार को जिला उपायुक्त ने पुलिस अधीक्षक के साथ गांव का दौरा किया था और कोविड केयर सेंटर बनाने के आदेश दिए। कोविड केयर सेंटर बनाने की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के लिए एसडीएम राकेश कुमार ने गांव में पहुंचकर अधिकारियों से विचार-विमर्श किया।

वर्जन

स्वामी इंद्रवेश विद्यापीठ आश्रम में पहले कोविड केयर सेंटर बनाने की योजना थी। प्रशासन को भी पूरा आश्वासन भी दे दिया गया था। लेकिन बाद में विचार किया गया है कि आश्रम में कई संन्यासी रहते हैं। काफी गायें भी हैं, जिनकी सेवा के लिए अन्य लोग भी आश्रम में ही रहते हैं। कोविड केयर सेंटर बनाने को लेकर उनमें डर की भावना उत्पन्न हो थी। इसलिए प्रशासन को स्कूल में कोविड केयर सेंटर बनाने की आग्रह किया, जिसपर सहमति बन गई। आश्रम इसमें हर संभव सहयोग करेगा।

प्रवेश आर्य, स्वामी इंद्रवेश विद्यापीठ, टिटौली