जागरण संवाददाता, रोहतक : कृषि विधेयकों के विरोध में कांग्रेसियों ने सोमवार को जोरदार प्रदर्शन कर जिला उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार को ज्ञापन सौंपा। प्रदर्शन में कांग्रेसियों में एकजुटता दिखी और एक-दूसरे के धुर विरोधी नेता भी प्रदर्शन में एक साथ नजर आएं। पुलिस प्रशासन कांग्रेस के प्रदर्शन की सूचना पर पहले से अलर्ट था। अध्यक्षता शहरी विधायक भारत भूषण बतरा ने की। कार्यकर्ता सुबह 11 बजे कांग्रेस भवन में एकत्रित हुए। सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।

व्यापारी-किसान के रिश्ते को खत्म करना चाहती है सरकार : बतरा

शहरी विधायक भारत भूषण बतरा ने कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार आढ़ती और किसान के रिश्ते को खत्म करना चाहती है। इसका उदाहरण कृषि विधेयक हैं, जो किसानों और आढ़तियों को आपस में दूर कर देगी।

कांग्रेस मंडी व्यवस्था में विस्तार करना चाहती थी : दांगी

पूर्व मंत्री आनंद सिंह दांगी ने एक सवाल के जवाब में कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने ओपन मार्केट का कभी भी समर्थन नहीं किया। उन्होंने तो मंडी व्यवस्था के विस्तार की बात की थी। मंडी में बेहतर व्यवस्था से किसान को अपनी फसल बेचने की चिता नहीं रहती।

किसानों बर्बरतापूर्वक लाठीचार्ज करना निदनीय : सुभाष बतरा

पूर्व गृहमंत्री सुभाष बतरा ने पीपली में किसानों पर लाठीचार्ज की कड़े शब्दों में निदा की है। उन्होंने कहा कि पूरे प्रकरण की निष्पक्षता से जांच होनी चाहिए।

ये रहे मौजूद

विधायक भारत भूषण बतरा, कलानौर से विधायक शकुंतला खटक, पूर्व राज्यसभा सदस्य शादीलाल बतरा, पूर्व गृहमंत्री सुभाष बतरा, पूर्व मंत्री आनंद सिंह दांगी, पूर्व मंत्री कृष्णमूर्ति हुड्डा, पूर्व विधायक एडवोकेट संतकुमार, चक्रवर्ती शर्मा, जयदीप धनखड़, बलराम दांगी, रोहतक ट्रेडर्स एसोसिएशन के प्रधान हेमंत बख्शी, व्यापारी नेता राकेश गर्ग रघुवीर सैनी, संत लाल वधवा, गुलशन ईशपुनियानी (पार्षद), कदम सिंह अहलावत, टिचू सचदेवा, मोनू शर्मा, रोमी ग्रेवाल, शौरी क्लॉथ मार्केट के प्रधान गुलशन ईशपुनियानी, रोशन उप्पल, जगत सिंह काला, चरणजीत शर्मा, तिलक राज मग्गू, गीता भारती, योगेंद्र, गौरव सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे। किसान नेता के साथ हुई की नोक-झोंक

लघु सचिवालय में ज्ञापन सौंपने के दौरान भारतीय किसान यूनियन अंबावता के प्रदेश अध्यक्ष अनिल नांदल उर्फ बल्लू प्रधान और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच नोक-झोंक हो गई। अनिल नांदल ने कहा कि कुछ कार्यकर्ता परिचित नहीं थे, जिसके कारण गलतफहमी हो गई थी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस