जागरण संवाददाता, रोहतक :

बिजली निगम के उपभोक्ताओं से बिल वसूल कर फरार होने वाली ई-पे इंफोसर्वे कंपनी पर तीन अलग-अलग मामले दर्ज कराए गए हैं। आरोप है कि इन एरिया से कंपनी ने उपभोक्ताओं से 48 लाख के अधिक से बिल वसूल लिए, लेकिन यह रकम निगम में जमा नहीं कराई। कंपनी के दो केयर-टेकर के खिलाफ भी केस दर्ज कराया गया है।

बिजली निगम सब डिवीजन नंबर दो के एसडीओ ने पुलिस को दी गई शिकायत में बताया कि ई-पे इंफोसर्वे कंपनी को उपभोक्ताओं के बिजली बिल जमा करने की जिम्मेदारी दी गई थी। जिसके साथ जनवरी 2018 एग्रीमेंट किया गया था। कंपनी की तरफ से सब डिवीजन नंबर दो एरिया के उपभोक्ताओं से बिजली बिल वसूल लिए, लेकिन यह राशि निगम के खाते में जमा नहीं कराई गई। जिसकी वजह से यह राशि बिजली बिलों में एडजस्ट नहीं हो पाई। छानबीन में पता चला कि कंपनी ने 1756490 रुपये का गबन किया है। आर्य नगर थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। उधर, सब डिवीजन नंबर एक की एसडीओ मनीता धनखड़ ने भी पीजीआइएमएस थाने में शिकायत दर्ज कराई है। इसमें बताया कि ई-पे इंफोसर्वे कंपनी ने उनके एरिया के उपभोक्ताओं से बिजली बिल वसूल कर लिए, लेकिन उस राशि को निगम में जमा नहीं कराया। कुल मिलाकर कंपनी ने 2655121 रुपये का गबन किया है। कंपनी के खिलाफ मामला दर्ज कर उचित कार्रवाई की जाए। वहीं, एसडीओ सुरेश हुड्डा की तरफ से भी मामला दर्ज कराया गया है। इसमें आरोप है कि ई-पे इंफोसर्वे कंपनी की तरफ से उनके एरिया के उपभोक्ताओं से 370921 रुपये वसूल लिए। अशोक कुमार और किरनपाल इस कंपनी के केयर टेकर थे। कंपनी ने जो गबन किया है उनके खिलाफ केस दर्ज किया जाए। आर्य नगर थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले बिजली निगम की तरफ से सांपला थाने में भी केस दर्ज कराया गया था।

Edited By: Jagran

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट